चंदौली, जेएनएन। पिछले दिनों मौनी अमावस्या स्नान के दौरान सड़क किनारे भीख मांगने बैठे असहाय को बूट से मारना बलुआ एसओ अतुल नारायण सिंह के लिए महंगा पड़ा। मामला संज्ञान में आने पर एसपी हेमंत कुटियाल ने एसओ को निलंबित कर दिया। साथ ही मामले की जांच एएसपी प्रेमचंद को सौंप दी है। जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। बूट मारने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।  इसमें  सकलडीहा सीओ प्रदीप सिंह चंदेल भी दिखाई दे रहे हैं। वे एसओ को रोकने की बजाय तमाशबीन की भूमिका में नजर आ रहे हैं। इससे महकमे की किरकिरी हो रही है। कप्तान की सख्ती से पुलिसकर्मियों में खलबली मच गई है।

मौनी अमावस्या के दिन बलुआ गंगा घाट पर स्नानार्थियों का रेला उमड़ा था। घाट की तरफ जाने वाले मार्ग पर असहाय भी पहुंच गए। थोड़ी देर बाद सीओ के साथ बलुआ एसओ मौके पर पहुंचे। सड़क किनारे असहायों की मौजूदगी उन्हें रास नहीं आई। उन्होंने एक असहाय को डंपटकर वहां से भगाया। जैसे ही वह अपने स्थान से उठा, थानाध्यक्ष ने बूट से मारना शुरू कर दिया। जबकि सीओ मूकदर्शक बने रहे। किसी ने इसका वीडियो बना लिया। वहीं देश भक्ति गीत के साथ इसको सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। थानाध्यक्ष की कारस्तानी से महकमे की किरकिरी हो रही है।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस