वाराणसी : संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में जहां अध्यापकों, कर्मचारियों व छात्रों का सोमवार को 17वें दिन आंदोलन जारी रहा। वहीं विरोध के बावजूद विवि प्रशासन नियुक्ति करने की तैयारी में जुटा हुआ है। नियुक्ति के लिए साक्षात्कार 24 अक्टूबर से कुलपति आवास पर बुलाया गया है।

पहले दिन साहित्य में प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर व असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए 104 अभ्यर्थी बुलाए गए हैं। कुलसचिव प्रो. सुधाकर मिश्र के मुताबिक साक्षात्कार प्रक्रिया 31 अक्टूबर तक कुलपति आवास पर बुलाई गई है। उधर पूर्व कांग्रेस के सांसद डा. राजेश मिश्र सोमवार को विश्वविद्यालय पहुंच कर अध्यापकों के आंदोलन का समर्थन किया। इस दौरान उन्होंने मोबाइल फोन से डिप्टी सीएम डा. दिनेश शर्मा से बात भी की। उन्हें विश्वविद्यालय चल रहे आंदोलन के बारे में जानकारी भी दी। इतना ही नहीं इस दौरान पूर्व सांसद धरनारत कर्मचारियों व छात्रों से मिले। उनकी समस्याओं को ध्यान से सुना और समाधान करने से शासन से बात करने का आश्वासन दिया।

एक साथ चार-चार धरना : विश्वविद्यालय में एक साथ चार-चार धरना चल रहा है। नियुक्ति के विरोध में अध्यापक, सातवें वेतन आयोग के अनुरूप वेतन व एरियर की मांग को लेकर कर्मचारी धरने पर बैठे हुए हैं। वहीं छात्र दो गुटों में बंटे हुए हैं। एक गुट छात्रावास की समस्या को लेकर तो दूसरा परिसर में पठन-पाठन शुरू करने की मांग को लेकर आंदोलनरत है।

अध्यापकों ने मांगा ब्यौरा : आंदोलनरत अध्यापकों ने कुलपति से विभागवार विश्वविद्यालय में रिक्त पदों का ब्यौरा मांगा है। इसके अलावा कितने पद पर चयन समिति बुलाई गई है। पदवार आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों की संख्या, साक्षात्कार में बुलाने वाले अभ्यर्थियों की संख्या, उनकी एपीआइ, साक्षात्कार हेतु एक पद पर कितना समय निर्धारित किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस