वाराणसी, जेएनएन। विधानसभा चुनाव की घोषणा अभी भले न हुई हो लेकिन राजनीतिक दलों ने सक्रियता कुछ इस तरह बढ़ा दी है जैसे कल ही चुनाव होने हों। प्रयास है कि जब महासमर का बिगुल बजे तब तक हर मोर्चे पर सब कुछ चाक-चौबंद हो। इसके लिए फिलहाल पूरा जोर जमीनी स्तर पर है। इसमें बूथ की मजबूती पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। समाजवादी पार्टी इसकी लगभग एक माह से रणनीतिक रूप से तैयारी भी कर रही है।

इसके तहत गांव से लेकर शहर तक के सभी विधानसभा क्षेत्रों से बूथवार वरिष्ठ नेताओं, पूर्व व वर्तमान पदाधिकारियों, पूर्व विधायकों, पूर्व व वर्तमान जिला पंचायत सदस्यों के साथ ही फ्रंटल इकाई के नेताओं का बायोडाटा लिया जा चुका है। अब इसे क्रियान्वित करने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर आह्वान किया तो जिला व महानगर संगठन ने मैदान संभाल लिया है। इसके तहत हर बूथ पर 20 यूथ को तैनात कर दिया है। जिलाध्यक्ष सुजीत यादव लक्कड़ ने बताया कि आगामी विधानसभा चुनाव में हर बूथ पर 20 यूथ की लिस्ट लखनऊ कार्यालय भेज दी गई है।

मुस्तैदी परखने आएंगे मुख्यालय से पर्यवेक्षक : बूथवार 20-20 यूथ तैनाती के बाद मुस्तैदी परखने के लिए प्रदेश मुख्यालय के निर्देश पर नेताओं के आने का क्रम भी शुरू होने जा रहा है। एक दिन पहले ही जिला व महानगर इकाई की अर्दली बाजार दफ्तर में हुई बैठक में मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत वोटर लिस्ट में नाम बढ़ाने, काटने, संशोधन से संबंधित बूथों की समीक्षा की गई। साथ ही पार्टी मुख्यालय लखनऊ से आ रहे प्रदेश के नेताओं के जनसंपर्क व भ्रमण कार्यक्रम पर का खाका खींचते हुए नेताओं-कार्यकर्ताओं की अलग-अलग जिम्मेदारी तय कर दी गई।

इस बाबत तय शेड्यूल के अनुसार 18 सितंबर को पूर्व राज्य मंत्री राम किशोर बिंद, 19 सितंबर को समाजवादी व्यापार सभा के प्रदेश अध्यक्ष विधायक संजय गर्ग व समाजवादी शिक्षक सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो. बी. पांडेय बनारस आ रहे हैं। इसके अलावा 22 सितंबर को सपा के वरिष्ठ नेता मिठाई लाल भारती संविधान बचाओ लोकतंत्र यात्रा लेकर वाराणसी आएंगे। वहीं 24 सितंबर को समाजवादी लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप तिवारी भ्रमण व जनसंपर्क करेंगे। महानगर अध्यक्ष विष्णु शर्मा के अनुसार विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी पूर्व में किए गए अपने काम के आधार पर वोट मांगेगी।

Edited By: Abhishek Sharma