वाराणसी, जेएनएन। श्रीकाशी विश्वनाथ की नगरी का क्या महत्व है, काशी विश्वनाथ धाम क्या है, शिवलिंग का उद्भव कैसे हुआ आदि तथ्यों को ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सद्गुरु जग्गी वासुदेव दुनिया भर में प्रचारित-प्रसारित करेंगे। इसके लिए मंगलवार की सुबह सद्गुरु अपने शिष्यों के साथ अति प्राचीन काशी करवट मंदिर पहुंचे।

प्राचीन मंदिरों को बड़े ही ध्यान से देखा

यहां उन्होंने योग साधना करने के बाद आदियोगी की पूजा-अर्चना की। बाबा विश्वनाथ को प्रणाम करते हुए उन्होंने काशी विश्वनाथ धाम में ध्वस्तीकरण के बाद निकले प्राचीन मंदिरों को बड़े ही ध्यान से देखा और स्थानीय प्रशासन से जानकारी ली। इस दौरान फिल्म अभिनेत्री जूही चावला व कंगना रनौत से काशी के महत्व, काशी के उद्भव और भगवान शिव शंकर को लेकर चर्चा की।

ललिता घाट स्थित नेपाली मंदिर पहुंचे

सद्गुरु जग्गी वासुदेव ललिता घाट स्थित नेपाली मंदिर पहुंचे। यहां पतित पावनी मां गंगा के सानिध्य में बैठ कर उन्होंने 'धर्म, भगवान शिव और अविनाशी काशी' पर आधारित जूही चावला और कंगना रनौत के प्रश्नों के उत्तर दिए। वहीं काशी की गलियों से होते हुए मंदिरों-मकानों को निहारते हुए सद्गुरु श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर-4 पर पहुंचे।

धाम के निर्माण के बाबत जानकारी ली

यहां उन्होंने मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी विशाल सिंह सहित काशी विश्वनाथ धाम के लिए नियुक्त कंसलटेंट कंपनी के आर्किटेक्ट से चर्चा की और धाम के निर्माण के बाबत जानकारी ली। इसके उपरांत सद्गुरु पंचकोसी मार्ग स्थित रामेश्वर तीर्थ पहुंचे, जहां दर्शन-पूजन और व्याख्यान के बाद वे एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए।

Edited By: Saurabh Chakravarty