वाराणसी, जागरण संवाददाता। राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट बुधवार को एक दिवसीय दौरे पर वाराणसी पहुंचे। इस दौरान अंधरापुल स्थित एक होटल में उन्होंने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि आज आम आदमी महंगाई से परेशान है। किसानों की आय दोगुनी हुई नहीं, बल्कि दर्द सौ गुना और भी बढ़ गया। कृषि उपकरणों पर देश के इतिहास में कभी भी कर नहीं लगा था। लेकिन, भाजपा सरकार में कृषि उपकरणों पर भी कर लगाया गया है। 

सचिन पायलट ने वाराणसी पहुंचकर पार्टी के पदाधिकारियों से मंथन करने के साथ ही चुनावी तैयारियाें को लेकर भी विचार विमर्श किया और पत्रकारों को संबोधित किया। उन्‍होंने किसानों और आम नागरिकों के हितों की उपेक्षा का आरोप भाजपा पर लगाते हुए किसानों के हित को लेकर कांग्रेस की ओर से आवाज उठाने की बात कही।

उन्‍होंने बताया कि पहले डीएपी की बोरी 50 किलोग्राम की आती थी, अब 45 किलोग्राम की हो गई है। किसान अभी शांत है, वह शांत होकर मुहर लगाएगा। 10 मार्च को भाजपा की विदाई तय है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश की जनता को एक बेहतर नेतृत्व मिलने जा रहा है। कांग्रेस पार्टी के पास किसानों, नौजवानों सहित सभी वर्गों के लिए खास योजनाएं हैं। जनता कांग्रेस को विकल्प के रूप में देख रही है। किसानों की आमदनी घटकर 27 रुपये प्रतिदिन हो गयी है। कर्ज बढ़कर 74 हजार हो गया है। यूपी में इस बार भाजपा हारेगी।

इसके बाद वर्ष 2024 में केंद्र से भी भाजपा का सफाया होगा। बनारस में कितनी सीटें जीतेंगे इस सवाल पर उन्होंने कहा कि यहां अच्छा परिणाम देखने को मिलेगा। हमारा चुनाव परिणाम चौंकाने वाला होगा। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पिछले चार वर्षों से प्रदेश में जनता की हर समस्या पर संघर्ष कर रही हैं। 10 मार्च को चार वर्षों की मेहनत का परिणाम देखने को मिलेगा। इस दौरान सपा और बसपा ने विपक्ष की भूमिका का निर्वहन नहीं किया।

Edited By: Abhishek Sharma