वाराणसी, जागरण संवाददाता। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मेहंदीगंज में सभा खत्म होते ही वाराणसी-प्रयागराज और रिंग रोड फेज-दो पर जाम लग गया। सड़क के किनारे खड़े बेतरतीब छोटे-बड़े वाहन और पार्किंग में खड़े वाहनों के बाहर आने से पूरी तैयारी ध्वस्त हो गई। जाम में मंत्री, विधायक और अफसरों के गाडिय़ों के हूटर बजते रहे लेकिन गाड़ी एक कदम आगे नहीं बढ़ रही थी। ड्यूडी पर लगाए गए कुछ पुलिस कर्मी अपनी जिम्मेदारी निभाते दिखे तो कुछ चाय-पान की दुकानों पर खड़े नजर आए। शाम पांच बजे के बाद सड़कों से जाम खत्म हुआ और यातायात व्यवस्था सामान्य हुई।

रिंग रोड फेज-दो वाराणसी-प्रयागराज तिराहे पर स्थित मेहंदीगंज में प्रधानमंत्री की सभा आयोजित थी। रिंग रोड पर जनप्रतिनिधियों, कार्यकर्ताओं और अधिकारियों के गाडिय़ों की छूट थी। कामर्शियल वाहनों को छूट नहीं दी गई थी। वाराणसी-बाबतपुर मार्ग स्थित कोईराजपुर और वाराणसी-प्रयागराज मार्ग स्थित राजातालाब के पास सभी वाहनों को रोक दिया गया था। कार्यक्रम स्थल के पास छोटे-बड़े सात वाहन वार्किंग स्थल बनाए गए थे। वाहन पार्किंग स्थल में जगह नहीं होने पर लोग अपनी गाड़‍ियों को सड़क के किनारे खड़ी करके चले गए थे।

प्रधानमंत्री का संबोधन खत्म होते लोग अपनी गाडिय़ों के पास पहुंचने के साथ जल्दी से निकलने की कोशिश करने लगे जिससे वह जाम में नहीं फंसे लेकिन सड़क पर बेतरतीब खड़े वाहन और चालकों की लापरवाही के चलते सड़क पर जाम लग गया। मौजूद पुलिस कर्मी जाम छुड़ाने की कोशिश करने लगे लेकिन आगे-पीछे जगह नहीं होने के चलते गाडिय़ा सड़क पर खड़ी हो गई थी। जाम में फंसे लोगों ने जिला प्रशासन और पुलिस पर नाराजगी जाहिर करते हुए खुद यातायात व्यवस्था संभालना शुरू कर दिया। उन्होंने किसी तरह जगह बनाकर एक-एक गाडिय़ों को निकालना शुरू किया। जाम से बचने के लिए ज्यादातर लोगों ने पहले वाराणसी-प्रयागराज हाइवे का सहारा लिया। एक घंटे बाद रिंग रोड से गाड़‍ियां निकलनी शुरू हुई।

Edited By: Abhishek Sharma