वाराणसी, जेएनएन। बीएचयू अस्पताल में शुक्रवार को पांचवें दिन भी रेजिडेंट्स की हड़ताल जारी रही। रेजिडेंट्स से मारपीट मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था। इनमें से बीएचयू के दो छात्रों को विवि प्रशासन ने तत्काल निलंबित भी कर दिया। बावजूद रेजिडेंट ने गुरुवार देर रात बैठक कर एम्स जैसी सुरक्षा मिलने तक हड़ताल जारी रखने का निर्णय लिया।

हालांकि प्रशासनिक कार्यवाई से रेजिडेंट्स संतुष्ट दिखे और शुक्रवार से इमरजेंसी सेवा बाधित करने के अपने निर्णय को वापस लिया। मगर पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था न मिलने तक हड़ताल पर ही रहने का फैसला किया। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' बीएचयू में रहे और इस दौरान रेजिडेंटस की हड़ताल जारी रही। उधर, हड़ताल के कारण बहुत ही कम पर्चिंयां काटी गईं। वहीं कई ओपीडी ऐसे भी रहे जिनमें भीड़ के बावजूद 20-30 मरीज ही देखे गए और बाकियों को लौटा दिया गया।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस