भदोही, जेएनएन। रेल मंत्रालय का अलर्ट इस बार भदोही जिले में रेलवे स्‍टेशन के लिए आया है। भदोही रेलवे आरक्षण केंद्र को इस वित्‍तीय वर्ष में 48 लाख रुपये की चोट लगी है। स्टेशन अधीक्षक से इस बाबत एक्शन प्लान मांगा गया है। वर्ष 2019 में आरक्षण केंद्र को 7.62 करोड़ की आय हुई थी जो इस बार आय नवंबर तक घटकर 6.48 करोड़ पहुंच गई है। दिसंबर तक 65 लाख की और आमदनी होने की संभावना स्थानीय अफसर जता रहे हैं। ऐसे में लगभग 48 लाख की चपत पहुंचेगी। स्थानीय अफसर आरक्षण केंद्र पर ताला लगाने की कोशिश में जुटे हुए हैं। इसी वजह से दो वर्ष से कर्मचारियों की नियुक्ति नहीं हो सकी। संसाधन भी नहीं बढ़ाए जा सके। अब यहां के सुविधाओं में भी कटौती करने की तैयारी आरंभ हो चुकी है। ऐसी स्थिति में यात्रियों को नुकसान झेलना पड़ सकता है।

एक दशक पहले तैनात थे आठ कर्मचारी

आरक्षण केंद्र में लंबे समय से कर्मचारियों का अभाव है। एक दशक पहले केंद्र पर सात से आठ कर्मचारियों की नियुक्ति थी। तीनों खिड़कियों से आरक्षण किया जाता था, जैसे-तैसे कर्मचारी सेवानिवृत्त होते गए, समस्या बढ़ती गई। केंद्र पर तीन कर्मचारी रह गए है जबकि एक ही खिड़की का संचालन किया जा रहा है।

वर्षवार हुई आमदनी

वर्ष कुल आमदनी
2017 7.03 करोड़
2018 7.62 करोड़
2019 6.48 करोड़

(दिसंबर में 65 लाख की संभावित आय)

---------------------

क्या कहते हैं जिम्मेदार

एक वर्ष से तीन कर्मचारी काम कर रहे। सुबह से दोपहर तक दो खिड़की संचालित है तो दूसरी बेला एक खिड़की चलती है। दिसंबर के पहले सप्ताह की अर्निग को देखते हुए दिसंबर में 65 लाख की आमदनी की संभावना है। - सुदामा यादव, प्रभारी सुपरवाइजर, भदोही रेलवे स्टेशन

रेलवे बदलाव की प्रक्रिया से गुजर रहा। कहां व कितने बदलाव होंगे, आरक्षण केंद्र पर ताला लटकेगा या चलता रहेगा। यह अभी स्पष्ट नहीं है। इतना जरूर है कि जल्द ही बदलाव देखने को मिल सकता है। - आलोक कुमार, स्टेशन अधीक्षक

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021