वाराणसी, जेएनएन। खत्री हितकारिणी सभा, वाराणसी की ओर से रविवार को लोहड़ी महोत्सव मनाया गया। इस मौके पर छावनी क्षेत्र स्थित होटल में काशी की संस्कृति और पंजाब की परंपरा एक साथ नजर आई। बल्ली दरबार की टीम ने भंगड़ा की प्रस्तुति कर लोहड़ी महोत्सव में रंग भर दिया। वहीं गिद्दा और पंजाबी लोकगीतों ने महफिल जमा दी। इस दौरान हर कोई थिरक ने पर विवश हो गया। समारोह का शुभारंभ ब्रिगेडियर हुकुम सिंह बैसला, अशोक धवन, डा.अंकुर चड्ढा, राकेश टंडन ने श्रीराम के चित्र पर माल्र्यापण कर किया। धीरज कपूर, किशोर कपूर, चंदर चावला, अमर मेहरोत्रा को 'खत्री गौरव सम्मान से अलंकृत किया गया। स्वागत राकेश टंडन व मुकेश कक्कड़ एवं धन्यवाद अमित धवन ने दिया।प्रदीप मधोक, जयंत मल्होत्रा, विजय नारायण कपूर, नितिन टंडन, रजनी, रितु अरोड़ा, संजय अरोड़ा, अनिल आदि उपस्थित थे।

उधर रोटरी क्लब वाराणसी डाउन टाउन द्वारा रविवार को लोहड़ी व मकर संक्रांति उत्सव का आयोजन पंडितपुर स्थित लान में किया गया। क्लब सदस्य पंजाबी गीतों पर थिरके। पतंगबाजी का आनन्द उठाया। साथ ही विभिन्न गेम्स भी खेले गए। गांव की थीम पर देसी खाने और लोहड़ी- संक्रांति उत्सव को सजाया गया था। अध्यक्ष अनिल कुमार अग्रवाल, संदीप अग्रवाल, संजय गुजराती, विनय सेठिया, पी के  अग्रवाल, मोहन लाल, समीर बर्मन आदि उपस्थित थे।

मकर संक्रांति पर होगी दंगल : मकर संक्रांति पर्व को लेकर मुहम्मदाबाद गोहना में शहीद चौराहा विजय स्तंभ चौक एवं कैलेंडर चुंगी पर लाई, चूड़ा, तिलवा तथा गुड़ की भेली की दुकानें सजने लगी हैं। दुकानदार सड़क के फुटपाथ पर सामानों को सजा कर बेचना शुरू कर दिए है लेकिन मकर संक्रांति का पर्व 14 एवं 15 जनवरी को होने को लेकर लोगों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी गांव में दो दिनों तक पर्व मनाने को लेकर लोग यह सोच रहे हैं कि त्योहार कब मनाया जाएगा। क्योंकि कस्बे के मोहल्ला सैदपुर स्थित बाबा की कुटी पर प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी 15 जनवरी को एक कुश्ती दंगल का भी आयोजन किया गया है। यहां विजयी पहलवानों को पुरस्कृत भी किया जाएगा। कुश्ती के आयोजन को लेकर गुद्दर बाबा के स्थान पर इसको लेकर तैयारियां जोरों पर है।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस