वाराणसी, जेएनएन। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव तथा उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा का आज वाराणसी दौरा है। वह वाराणसी में आज सोनभद्र नरसंहार के घायलों से मिलेंगी। नई दिल्ली से वाराणसी आने वाले इंडिगो एयरलाइंस के विमान प्रियंका गांधी वाड्रा वाराणसी एयरपोर्ट पहुंचीं। प्रियंका गांधी वाड्रा ने लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट,बाबतपुर स्थित पहुंचते ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और एयरपोर्ट से वह ट्रामा सेंटर रवाना हो गईं।

प्रियंका गांधी सोनभद्र निकलने से पहले बीएचयू के ट्रामा सेंटर अस्पताल सेंटर जा रही हैं। यहां ट्रामा सेंटर में ही सोनभद्र नरसंहार में गंभीर रुप से घायल करीब दो दर्जन लोगों का इलाज चल रहा है। उनके परिवारीजन से मिलने के बाद ही वह सोनभद्र निकलेंगी। इसके बाद वह सोनभद्र में घटना स्थल पर भी जाएंगी, जहां दस लोगों को जमीन पर कब्जे के लिए गोलियों से भून दिया गया था। इससे पूर्व एयरपोर्ट पर कांग्रेस नेता अजय राय सहित कई कार्यकर्ता भी प्रियंका गांधी का स्वागत करने पहुंचे। लाेकसभा चुनाव से पूर्व रोड शो के बाद प्रियंका का यह पहला वाराणसी का दौरा है। 

ट्रामा सेंटर में वह घायलों का हाल-चाल लेने के बाद सोनभद्र भी जाएंगी। वह वहां घोरावल तहसील के उभ्भा गांव में जमीन पर कब्जे को लेकर हुई हिंसा के पीडि़त लोगों से मुलाकात करेंगी। इससे पहले भी प्रियंका गांधी सोनभद्र हत्याकांड को लेकर यूपी सरकार पर जमकर निशाना साधा चुकी हैं। प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया था भाजपा राज में अपराधियों के हौसले इतने बढ़ गए हैं कि दिन-दहाड़े हत्याओं का दौर जारी है। सोनभद्र के उम्भा गांव में भू-माफियाओं ने तीन महिलाओं सहित नौ गोंड आदिवासियों की सरेआम हत्या ने दिल दहला दिया। प्रशासन-प्रदेश मुखिया-मंत्री सब सो रहे हैं। क्या ऐसे बनेगा अपराध मुक्त प्रदेश। सोनभद्र हत्याकांड को लेकर कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विपक्षी दल यूपी की योगी आदित्यानाथ की सरकार पर हमलावर है। 

सोनभद्र में बुधवार को जमीनी विवाद में 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में 24 लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले में 28 लोग नामजद और 50 अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज है। पुलिस अधीक्षक सलमान ताज पाटिल ने बताया कि इस मामले में ग्राम प्रधान के भतीजे समेत 24 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। पुलिस के मुताबिक, उभ्भा गांव में दो पक्षों के बीच सालों से जमीन का विवाद चल रहा है।

गांव के प्रधान ने दो वर्ष पहले सौ बीघा जमीन खरीदी थी, जिस पर वह सहयोगियों के साथ कब्जा करने के लिए गए थे, बुधवार को दिन में 11 बजे ग्राम प्रधान यज्ञदत्त गुर्जर और करीब दो सौ अन्य लोग 32 ट्रैक्टरों पर सवार होकर विवादित जमीन पर पहुंचे, जहां उन्होंने खेत की जुताई शुरू करा दी। दूसरे पक्ष के लोगों ने इसका विरोध किया। तभी प्रधान के साथ आए लोग वहां स्थित दूसरे पक्ष के लोगों पर गोलीबारी करने लगे, जिससे 10 लोगों की मौत हो गई थी। प्रधान पक्ष के बाकी लोग लाठी डंडों और फावड़े लेकर टूट पड़े। दूसरे पक्ष ने भी मुकाबला करते हुए इनके ऊपर पथराव किया। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप