मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

वाराणसी, जेएनएन। प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर सोनभद्र दौरे के एक दिन बाद सोनभद्र नरसंहार मामले में अपना अनुभव शेयर किया है। बुधवार की सुबह उन्‍होंने अपने आधिकारिक टवीटर हैंडल से दो पोस्‍ट जारी कर तीन बिंदुओं में सोनभद्र नरसंहार को लेकर जानकारियां साझा की हैं। उन्‍होंने सोशल मीडिया में अपने दौरे के संदर्भ में तस्‍वीरें भी शेयर की हैं। उनहोंने लिखा है कि -

 

सोनभद्र में उभ्भा गांव के आदिवासी बहनों-भाइयों से बात करके यह स्पष्ट हुआ कि-

1. उन्हें अपनी जमीन का मालिकाना हक़ जब तक नहीं मिलेगा तब तक वह असुरक्षित रहेंगे और उन्हें प्रताड़ित किया जाएगा।

2. आरोपी प्रधान द्वारा गांव की महिलाओं और पुरुषों पर दर्ज कराए मुक़दमे और उन पर प्रशासन द्वारा लगाया गया गुंडा ऐक्ट रद्द किया जाना चाहिए। 

3. अभी तक गांव में पुलिस चौकी नहीं लगी। उभ्भा के निवासी अभी भी दहशत में जी रहे हैं।

 

सोशल मीडिया पर प्रियंका गांधी का पोस्‍ट जारी होने के बाद वायरल हो गया। हालांकि पत्रकार संग बदसुलूकी को लेकर भी लोगों ने प्रियंका गांधी से उनके पोस्‍ट पर स्‍पष्‍टीकरण मांगा है। हालांकि अधिकतर लोगों ने सोशल मीडिया ने इस कांड को लेकर प्रशासन और प्रदेश सरकार को भी घेरा है। 

Posted By: Abhishek Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप