वाराणसी, इंटरनेट डेस्‍क। चुनावी समर में सत्‍ताधारी दल भाजपा की ओर से कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जा रही है। वाराणसी वैसे तो प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है। लेकिन, पूरे प्रदेश में वाराणसी का विकास केंद्र में पीएम की वजह से नजर आ रहा है। चुनावी अभियानों से लेकर विकास की छवियां मानो काशी के वैभव से होकर ही चुनावी रणक्षेत्र में उतर रही हैं। इस लिहाज से भाजपा के लिए वाराणसी कहीं अधिक महत्‍वपूर्ण क्षेत्र है। भले ही यहां अंतिम दौर में चुनाव हो लेकिन चुनाव की रणनीति बनाने से लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को जिम्‍मेदारी और उनसे शीर्ष नेताओं का संवाद लगातार बना हुआ है। इसी कड़ी में वाराणसी के सांसद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद कार्यकर्ताओं से 18 जनवरी को सुबह संवाद करने जा रहे हैं।

इस बाबत उत्‍तर प्रदेश भाजपा के आधिकारिक इंटरनेट मीडिया की ओर से संदेश जारी किया गया है। संदेश में लिखा है कि- ''भाजपा के देवतुल्य कार्यकर्ताओं के साथ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का संवाद 18 जनवरी, प्रातः 11:00 बजे साझा करें अपने विचार और सुझाव''। इस संदेश के साथ ही पीएम के आधिकारिक नमो एप डाउनलोड करने और उनसे जुड़ने की अपील की गई है। वहीं पार्टी की ओर से जारी पोस्‍टर में आयोजन और पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा को भी जारी करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से जुड़ने की अपील की गई है। 

वहीं वाराणसी में पार्टी के शीर्ष नेतृत्‍व की ओर से इस बाबत जानकारी मिलने के बाद से ही पार्टी के स्‍तर पर तैयारियां शुरू हो गई हैं। अब कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ बूथ स्‍तर के कार्यकर्ताओं को इस संवाद में शामिल करने के लिए पदाधिकारियों ने रणनीति तैयार करनी शुरू कर दी है। वहीं दूसरी ओर पार्टी कार्यालय और पीएम के संसदीय जनसंपर्क कार्यालय में भी इस बाबत आयोजन को लेकर तैयारियां होने की सूचना है। पार्टी स्‍तर पर पीएम का संदेश कार्यकर्ता स्‍तर तक पहुंचचाने के लिए पदाधिकारी अब वाराणसी में सक्रियता के साथ आयोजन को सफल बनाने और कार्यकर्ताओं को इससे जोड़ने की रणनीति पर जुट गए हैं। माना जा रहा है कि कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए ही पदाधिकारी पीएम के इस आयोजन को अमलीजामा पहनाने की रणनीति पर काम करेंगे। 

Edited By: Abhishek Sharma