बलिया (जेएनएन) । जिला सहकारी संघ के सभापति के चुनाव के दौरान गुरुवार को सपा कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। पूर्व मंत्री नारद राय के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने कमरे का दरवाजा तोड़ दिया। इस दौरान हाथापाई भी हुई। इसमें पूर्व मंत्री के कपड़े भी फट गए। इसके बाद दोनों तरफ से एक-दूसरे के विरोध में जमकर नारेबाजी हुई। इसके चलते काफी देर तक चुनाव स्थल पर हंगामे की स्थिति बनी रही। सिटी मजिस्ट्रेट डा. विश्राम संग पुलिस ने किसी तरह से स्थिति को नियंत्रित किया। अंतत: इस सीट पर भाजपा के राजनाथ पाण्डेय की दो मतों से जीत हुई।

जिला सहकारी संघ में सभापति के चुनाव के लिए टाउन हाल के सामने मतदाताओं की सूची चस्पा हो गई। दोपहर बाद चुनाव की प्रक्रिया शुरू हुई। इसको लेकर गहमागहमी का माहौल बना रहा। इसके लिए पीएसी संग भारी मात्रा में फोर्स भी तैनात थी। इसमें भाजपा से राजनाथ पाण्डेय व सपा की तरफ से मीरा पाण्डेय प्रत्याशी के रूप में मैदान में थीं। चुनाव शुरू होते ही दोनों पक्षों के शीर्ष नेता अपने वोटरों के साथ पहुंचने लगे। हर दल अपने-अपने मतदाताओं को कब्जे में रखे हुए था। सपा का आरोप है कि भाजपा ने उसके समर्थक मतदाताओं को कमरे में बंद कर दिया है। उन्होंने पुलिस व भाजपा पदाधिकारियों से मतदाताओं को बाहर निकालने को कहा। इसमें हो रही देरी पर समर्थक भड़क गए। पूर्व मंत्री संग समर्थकाें ने कमरे के दरवाजे को तोड़ दिया। इस दौरान पुलिस के रोकने पर हाथापाई भी हो गई। इसी बीच भाजपा पदाधिकारी भी विरोध करने लगे। इससे माहौल और गरम हो गया। दूसरे पक्ष के कार्यकर्ता कमरे से निकले तीन मतदाताओं को अपने कब्जे में लेकर जाने में सफल हो गए। इसी दौरान कांग्रेस नेता से भी नोंकझोक हुई। इस भगदड़ में कई नेता कीचड़ व नाली में भी गिर गए। इसकी खबर पाते ही सीओ अरुण सिंह व कोतवाल शशिमौलि पाण्डेय ने किसी तरह से स्थिति को नियंत्रित किया।

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस