सोनभद्र, जेएनएन। मौसम का रुख बदलने के साथ ही नक्‍सलियों की क्षेत्र में गतिविधियों की संभावनाओं को देखते हुए झारखंड सीमा पर नक्सलियों की टोह में पुलिस ने जंगलों को खंगाला। बीहड़ में घुसी पुलिस ने जंगल में मिले लोगों से जानकारी ली। कांबिंग के बाद खरौंधी व बागेसोती गांव में ग्रामीणों की समस्या भी सुनी गई। उनके निस्तारण का आश्वासन भी दिया।

पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव के निर्देश पर कोन थाने के प्रभारी निरीक्षक राजेश सिंह के नेतृत्व में खरौंधी व बागेसोती गांव से लगे जंगलों में कांबिंग की गई। जंगल में मिले चरवाहों से नक्सलियों की टोह ली गई। सुरक्षा का जायजा लेने के बाद पुलिस ने दोनों गांव के ग्रामीणों की समस्या भी सुनी। ग्रामीणों को भरोसा दिलाया कि अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों की जगह सलाखों के पीछे है। वे भयमुक्त होकर कार्य करें। उनकी सुरक्षा के लिए पुलिस कटिबद्ध है। इस दौरान केंद्र व राज्य सरकार से संचालित कल्याणकारी योजनाओं की भी जानकारी दी गई। ग्रामीणों से अपील की गई कि किसी भी संदिग्ध के देखे जाने पर पुलिस को तत्काल सूचित करें या फिर चौकीदार व पुलिस मित्र के माध्यम से भी पुलिस को सूचना दे सकते हैं। बताने वाले का नाम पता गोपनीय रखा जाता है।

पुलिस अधीक्षक ने जंगलों में संदिग्धों की तलाश की

मीरजापुर पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह ने विंध्याचल थाना क्षेत्र के जंगली इलाके में कांबिंग की। उन्होंने जंगली क्षेत्र को खंगालते हुए गत दिनों विंध्याचल में हत्या कर एक कुंए के पास फेंके गए सूरज के बाइक की तलाश की। पूरा जंगल खंगालने के बावजूद बाइक नहीं मिली तो उन्होंने क्राइम ब्रांच व विंध्याचल पुलिस से मृतक की बाइक बरामद करने को कहा।

एसपी सोमवार की दोपहर अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश स्वरुप पांडेय, क्राइम ब्रांच तथा विंध्याचल पुलिस के साथ विंध्याचल के जंगलों में कांबिंग करने पहुंचे। फोर्स के साथ जंगलों का भ्रमण किया। कांबिंग के दौरान उन्होंने सूरज की बाइक को तलाश की। पुलिस ने बताया कि 14 फरवरी को ङ्क्षवध्याचल के छनवर गांव के बाहर स्थित एक कुएं के पास अज्ञात बदमाशों द्वारा सूरज पांडेय की हत्या कर शव फेंक दिया था। स्थान की जानकारी होने पर वे मौके पर गए और घटना स्थल को देखा। उसके बाद आसपास के लोगों से पूछताछ भी की। कहा कि युवक की किसी भी दशा में बाइक बरामद की जाए। साथ ही विंध्याचल पुलिस को चेताया कि अपराधी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए। किसी को कानून तोडऩे की इजाजत नहीं दी जाए। अपराध पर लगाम लगाया जाए। आसपास के लोगों से भी किसी प्रकार की आपराधिक घटनाओं की जानकारी होने पर पुलिस को सूचना देने को कहा। ताकि समय रहते उसपर लगाम लगाया जा सके।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस