वाराणसी (जेएनएन) : काशी में अपना जन्मदिन मनाने आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 सितंबर को डीरेका के गेस्ट हाउस में प्रवास किया था। प्रवास के दौरान व्यवस्था में खामियां थी। पीएमओ ने मामले को गंभीरता से लेते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल से इसकी शिकायत दर्ज कराई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रवास के दौरान व्यवस्था में खामी का मामला उजागर होते ही मंत्रालय में हड़कंप मच गया। पीएम के निजी सचिव की शिकायत पर रेल मंत्री ने डीरेका की जीएम रश्मि गोयल, सिविल विभाग के सिविल इंजीनियर के रामाकृष्णन, डिप्टी इंजीनियर राहुल श्रीवास्तव व उप प्रमुख अभियंता विद्युत को दिल्ली तलब कर लिया। शुक्रवार को डीरेका के चारों अधिकारी दिल्ली में थे।

सूत्रों के अनुसार 17 सितंबर को डीरेका के गेस्ट हाउस में जिस कमरे में पीएम मोदी ठहरे थे, वहां लगा डोरमैट काफी पुराना और फिसलन वाला था। बाथरूम में जो गीजर लगा था, उससे भी पीएम मोदी को काफी परेशानी हुई थी। हालांकि इस मामले में डीरेका का कोई भी अधिकारी मुंह खोलने को तैयार नहीं है। डीरेका की जीएम के मोबाइल पर भी कई बार संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। डीरेका के जनसंपर्क अधिकारी का कहना था कि यह सिर्फ कोरी अफवाह है, इस तरह की कोई बात नहीं है। हालांकि चारों अधिकारियों के अचानक दिल्ली तलब किए जाने के सवाल पर उन्होंने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस