वाराणसी : 305 करोड़ की लागत से 43,445 वर्गमीटर में बने ट्रेड फैसिलिटेशन सेंटर का जब शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया, इसका नाम बदलकर रखा जा चुका था दीनदयाल हस्तकला संकुल। इसकी आधारशिला बतौर सासद बनारस मोदी ने ही 7 नवंबर 2014 को रखी थी।

दोपहर 3 बजकर 51 मिनट पर मोदी इसके ऑफिस ब्लॉक में रेड कार्पेट पर चलते हुए भीतर पहुंचे। भवन की भव्यता को निहारते हुए उन्होंने दीनदयाल हस्तकला संकुल का लोकार्पण किया। इसके बाद गैलरी से होते हुए कन्वेंशन हाल पहुंचे। अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित हाल को देखने के बाद वापस गैलरी में आए।

गैलरी में चांदी की गुलाबी मीनाकारी, लकड़ी के खिलौने, ब्लैक पॉटरी, जरी-जरदोजी, सोप स्टोन, हैंड मेड दरी, वुडेन अंडरकट, चांदी के बर्तन व ग्लास बीड्स आदि के 14 शिल्पी अपनी-अपनी कला का प्रदर्शन कर रहे थे। बारी-बारी सभी के पास जाकर प्रधानमंत्री ने बनारसी शिल्प कला को करीब से जाना। इसके बाद पीएम सीधे संग्रहालय पहुंचे। बनारसी साड़ियों के सौ वर्ष पुराने संग्रह के साथ ही गुलाबी मीनाकारी, लकड़ी के खिलौने, ब्लैक पॉटरी, सोप स्टोन, हैंड मेड दरी, चांदी के बर्तन आदि कलाकृतियां देखी। इस दौरान उस्ताद बिस्मिल्लाह खां की शहनाई व पं. किशन जी महाराज का तबला भेंट किए जाने पर प्रधानमंत्री ने उसे संग्रहालय के बनारसी संगीत वाद्ययंत्र गैलरी को समर्पित कर दिया। उन्होंने मुख्य सचिव को बुनकरों व शिल्पियों के लिए जल्द से जल्द बाजार की व्यवस्था करने का निर्देश दिया।

अद्भुत दीनदयाल हस्तकला संकुल

ये हैं सुविधाएं : व्यापार सुविधा केंद्र के अंतर्गत बेसमेंट, ग्राउंड फ्लोर सहित तीन अतिरिक्त फ्लोर बनाए गए हैं। दो स्तरीय बेसमेंट में लगभग 400 चार पहिया वाहन खड़े करने की सुविधा है। बेसमेंट पर ऑफिस के अलावा 11 मार्ट, कन्वेंशन सेंटर, फूड कोर्ट, 14 दुकानें, पूछताछ केंद्र, प्रवेश प्लाजा, आकर्षक व आधुनिक सुविधायुक्त गैलरी और लगभग दो हजार लोगों की क्षमता का एम्फी थियेटर भी है।

इतिहास व संगीत गैलरी हैं आकर्षण

ये हैं सुविधाएं : पहली मंजिल पर 13 मार्ट, 2 एटीएम, गैलरी, 2 रेस्त्रां, 14 दुकानें, लाउंज, सिल्क गैलरी, कार्पेट गैलरी, इतिहास और संगीत गैलरी आकर्षण का मुख्य केंद्र हैं। द्वितीय मंजिल पर व्यापार केंद्र, गेस्टरूम, व्यापार और सूचना का राष्ट्रीय केंद्र, 4 दुकानें, 15 डारमेट्री, ऑफिस, लाइब्रेरी, रिकॉर्ड रूम, चलचित्र हाल की भी व्यवस्था है। तीसरी मंजिल पर 13 ऑफिस और व्यापार केंद्र के साथ गेस्टहाउस, कामन हॉल, पैन्ट्री और ऑफिस हैं।

Posted By: Jagran