वाराणसी, जेएनएन। वाराणसी सांंसद और पीएम नरेंद्र मोदी आज रविवार को विंध्‍य क्षेत्र के मीरजापुर और सोनभद्र के इलाकों में शुद्ध पेयजल के लिए करोड़ों की योजनाएं जनता को समर्पित करने जा रहे हैं। वही आयोजन में शामिल होने के लिए मुख्‍यमंत्री याेगी आदित्‍यनाथ भी पहुंच रहे हैं।   

मीरजापुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विंध्य क्षेत्र की पेयजल परियोजनाओं का वर्चुअल माध्मय से शुभारंभ किया जाएगा। जल जीवन मिशन के तहत विंध्य क्षेत्र के मीरजापुर व सोनभद्र जनपद के प्रभावित गांवों की जनता को शुद्ध पेयजल योजना की सौगात देंगे। सरकार की महत्वाकांक्षी योजना से विंध्य क्षेत्र के लोगों को वर्ष 2022 तक शुद्ध पेयजल मिल सकेगा। लगभग 2343.20 करोड़ रुपये खर्च करके विंध्य क्षेत्र में ग्रामीण पाइप पेयजल योजना के तहत पाइप लाइन से लोगों के घरों तक नल से शुद्ध पानी पहुंचेगा। केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना से आर्सेनिक, फ्लोराइड एवं जापानी इंसेफ्लाइटिस (जेई), एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से ग्रस्त जनता को चरणबद्ध तरीके से पाइप पेयजल परियोजना से शुद्ध पानी मिलने से काफी राहत होगी। अभियान के तहत चेकडैम से पानी को निकालकर शुद्ध किया जाएगा और गांवों में नल के माध्यम से पानी पहुंचाया जाएगा। इसके तहत लगभग 303 निर्माण कार्य कराए जाएंगे। इससे 1606 ग्रामों के लोगों को शुद्ध पानी मिल सकेगा।

 

मीरजापुर के 1606 गांवों में नल से होगी शुद्ध जलापूर्ति

मीरजापुर जनपद के 12 ब्लाकों के 743 ग्राम पंचायतों के 1606 ग्राम व 3313 मजरों में 354870 लोगों को पाइप लाइन का कनेक्शन दिया जाएगा, इससे लगभग 2188125 लोग लाभान्वित होंगे। अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई दीपक कुमार ने बताया कि 140 बोरवेल आधारित योजना और 9 सतही स्रोत योजना संचालित की जाएगी। इस योजना के तहत 253 ओवरहेड टैंक और 47 अंडर ग्राउंड टैंक का निर्माण कराया जाएगा।

सोनभद्र में भी लोगों को मिलेगा शुद्ध पेयजल

सोनभद्र के विकास खंड घोरावल एवं राबट्र्सगंज स्थित पटवध तथा पटवध 2 ग्राम समूह पाइप पेयजल योजना तथा सोनभद्र के विकास खंड चोपन स्थित कदरा, नेवारी एवं हर्रा ग्राम समूह पाइप पेयजल योजना की लागत व्यय 3212.18 करोड़ रुपये है। इन पाइप पेयजल योजनाओं से क्रमश: 225, 661 तथा 67 राजस्व ग्राम सहित कुल 1389 गांव लाभान्वित होंगे।

प्रधानों से सीधे रूबरू होंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मीरजापुर जनपद के 9 ग्राम समूह पाइप पेयजल योजना का वर्चुअल शुभारंभ 22 नवंबर को करेंगे। इसके साथ ही इन ग्रामों के प्रधानों के साथ वर्चुअल बातचीत भी करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनपद के गोथौरा व धौहा जमालपुर, महादेव पहाड़ी, अहुंगी कला हलिया, लेढुकी पटेहरा, तलार राजगढ़, मानिकपुर, माहौरी व दांती में पेयजल परियोजना का शुभारंभ करेंगे।

मीरजापुर में तीन क्रिटिकल व एक सेमी क्रिटिकल क्षेत्र

क्रिटिकल : सिटी, छानबे, मझवां व कोन ब्लाक।

सेमी क्रिटिकल : सीखड़ ब्लाक।

मीरजापुर

परियोजना का नाम : ग्रामीण पाइप पेयजल योजना।

कुल लागत : 2343.20 करोड़ रुपये

कुल पंचायत : 743

कुल ग्राम : 1606

कुल मजरे : 3313

कुल कनेक्शन : 354870

कुल जनसंख्या : 2187980

जल की मांग : 230.48 एमएलडी

ओवरहेड टैंक : 253

अंडरग्राउंड टैंक : 47

सतही स्रोत योजना : 09

बोरवेल आधारित योजना : 140

पूर्ण होने की तिथि : मार्च 2022

आज सोनांचल में 2.40 घंटे रहेंगे मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज जनपद में दो घंटे 40 मिनट तक रहेंगे। मुख्यमंत्री हेलीकाप्टर से सीधे कार्यक्रम स्थल चतरा ब्लाक के करमांव गांव स्थित धंधरौल बंधे के पास सुबह साढ़े 10 बजे लैंड करेंगे। इस दौरान वह एक बड़ी जनसभा को भी संबोधित करेंगे। कार्यक्रम को अंतिम रूप देने के लिए शनिवार को प्रशासनिक अमला पूरे दिन लगा रहा। वहीं दूसरी ओर सीएम के आगमन से पूर्व ही जिले के प्रभारी मंत्री सतीश चंद्र द्विवेदी व जलशक्ति मंत्री डा. महेंद्र सिंह ने कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने संबंधित अधिकारियों से कार्यक्रम की सफलता को लेकर गहन मंथन किया। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी सभी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को धंधरौल बांध के तट से जिले को पांच हजार पांच सौ 55 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली 23 पाइप पेयजल योजनाओं का शिलान्यास रखेंगे। इसमें 14 योजनाएं सोनभद्र तो 9 मीरजापुर में होंगी। जिले में स्थापित 14 पाइप पेयजल योजना से 1389 गांव के लोग सीधे तौर पर लाभांवित होंगे। जिले में होने वाले कार्यों की लागत करीब तीन हजार 212 करोड़ रुपये आएगी।

सुरक्षा व्यवस्था रहेगी चाक-चौबंद

मुख्यमंत्री के अलावा कार्यक्रम स्थल पर 500 वीआइपी की मौजूदगी को देखते हुए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। धंधरौल बांध के तट पर आयोजित कार्यक्रम को देखते हुए एनडीआरएफ की तीन टीम सीएम के कार्यक्रम से दो घंटे पहले से ही बांध के अंदर चक्रमण शुरू कर देगी। इसके अलावा जिले के अलावा पड़ोसी जनपद से भी फोर्स मंगाये गए हैं। पीएसी के जवानों की भी तैनाती की गई है। सीआरपीएफ के जवानों को भी सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

एक किमी पहले रुकेंगे वाहन

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल से करीब एक किमी पहले ही सभी वाहनों को रोक दिया जाएगा। व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए पुलिस के साथ-साथ पीएसी के जवान भी लगाए गए हैं। इसके अलावा मुख्य बांध के दोनों तरफ भी कार्यक्रम के दौरान पूरी तरह से आवाजाही पर प्रतिबंध रहेगा। शनिवार को सभी व्यवस्था चाक-चौबंद रहे इसके लिए जिलाधिकारी एस. राजङ्क्षलगम व पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव संबंधितों के साथ कार्यक्रम स्थल के पास ही बैठक की। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी सुरक्षा कर्मी कार्यक्रम शुरू होने के दो घंटे पहले से ही अपने निर्धारित स्थान पर ड्यूटी में लग जाएंगे।

नेटवर्क बड़ी चुनौती

सोनांचल में मोबाइल नेटवर्क पहले से ही जर्जर है। ऊपर से दुर्गम क्षेत्र धंधरौल में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल पर पीएम को वीडियो कांफ्रेंंस से जोड़े रखना जिला प्रशासन के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है। एनआइसी के अधिकारी अनिल गुप्ता ने बताया कि कार्यक्रम स्थल पर नेटवर्क की समस्या न हो इसके लिए पांच विकल्प पहले से ही तैयार करके रखा गया है, ताकि किसी भी आपात स्थिति में उससे निपटा जा सके।

सोनभद्र में आज सीएम 23 परियोजानाओं का करेंगे शिलान्यास

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को चतरा ब्लाक के करमांव गांव में सुबह 10.30 बजे पहुंचेंगे। वे यहां ङ्क्षवध्य क्षेत्र (सोनभद्र-मीरजापुर) की 5555 करोड़ लागत की कुल 23 पेयजल परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। इसके पूरा होने से 1389 गांवों के 19.5 लाख लोगों को शुद्ध पानी मिलेगा। मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ धंधरौल बांध के पास करमांव गांव में राजकीय हेलीकाप्टर से पहुंचेंगे। यहां वे लगभग ढाई घंटे रहेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वीडियो कांफ्रेंस के जरिए कार्यक्रम से जुड़े रहेंगे। इस दौरान दो ग्राम प्रधानों और समूह सखियों से संवाद भी करेंगे। मुख्यमंंत्री यहां अपराह्न 1.10 बजे टाडा-फाल गो-आश्रय स्थल मीरजापुर के लिए रवाना हो जाएंगे। वहीं मंडलायुक्त प्रीति शुक्ला, आइजी पीयूष श्रीवास्तव, डीएम एस राजलिंगम, एसपी आशीष श्रीवास्तव ने सुरक्षा संबंधी व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री की अगवानी के लिए जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह प्रभारी मंत्री सतीश चंद्र पहले ही जिले में पहुंच चुके हैं। सुरक्षा व्यवस्था में करीब हजार जवानों की तैनाती की गई है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस