वाराणसी, जेएनएन। देव दीपावली पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विशेष विमान बोईंग 777-300 ईआर पहली बार लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरेगा। विमान लैं‍डिंग कराने को लेकर रनवे और एप्रन पर

मार्किंग का काम तेजी से चल रहा है। एयरपोर्ट पर विमान लैं‍डिंग कराना एयरपोर्ट अथारिटी के लिए बड़ी चुनौती है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा एजेंसी से हरी झंडी मिलने और उनके दिशा-निर्देशन में तैयारियां तेजी से चल रही है। 

प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर बोईंग 777-300 ईआर विमान अमेरिका से खरीदा गया है। यह विमान अमेरिका के राष्ट्रपति की तरह अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। बनारस एयरपोर्ट पर अभी तक करीब 180 से 200 सीटर विमानों की लैं‍डिंग और टेक आफ आसानी से हो पाती है।

इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण रनवे का छोटा होना और सुविधाओं की कमी। बड़े विमानों की लैं‍डिंग कराने के लिए एयरपोर्ट का विस्तारीकरण तेजी से चल रहा है। काफी हद तक एयरपोर्ट अथारिटी ने जमीन अधिग्रहण कर लिया है। अधिकारियों ने बताया कि बोईंग 777-300ईआर विमान एयरपोर्ट पर आसानी से उतर जाएगा लेकिन उसके लिए रनवे और एप्रन पर अलग से माकिंग करनी पड़ती है।

प्रधानमंत्री के बोईंग 777-300 ईआर से आगमन को देखते हुए वाराणसी एयरपोर्ट प्रशासन रनवे की लंबाई और सुविधाओं की जानकारी प्रधानमंत्री सुरक्षा एजेंसी को दी गई थी। एजेंसी की जांच-पड़ताल के बाद तय किया गया कि बनारस एयरपोर्ट के रनवे पर विमान की लैंडिंग आसानी से हो सकती है। प्रधानमंत्री के सुरक्षा एजेंसी से हरी झंडी मिलते ही शनिवार को एयरपोर्ट प्रशासन ने रनवे और एप्रन आदि पर माृृकग का काम शुरू कर दिया जिससे विमान को लैंडिंग करने में आसानी हो।  

इन सुविधाओं से लैस है विमान 

-विमान में अत्याधुनिक मिसाइल और रक्षा प्रणाली शामिल है, जिन्हें लार्ज एयरक्राफ्ट इंफ्रारेड काउंटरमेजर्स (एलएआइआरसीएम) और सेल्फ प्रोटेक्शन सूट्स (एसपीएस) कहा जाता है। 

-विमान में इंटीग्रेटेड डिफेंसिव इलेक्ट्रानिक वारफेयर सूट (एआइडीइडब्ल्यूएस) है, जो विमान को इलेक्ट्रानिक खतरों से बचाता है। 

-विमान में मिसाइल वार्निंग सेंसर और काउंटर-मेजर डिस्पेंसिंग सिस्टम भी है। 

-विमान एक बार में 17 घंटे तक उड़ान भरने में सक्षम है। 

-विमान में सिक्योर मोबाइल और सेटेलाइट फोन और कम्युनिकेशन फैसिलिटी भी है। 

-वीवीआइपी के अलावा डेलीगेट्स को भी बैठने के लिए इसमें अलग से जगह है।

हम सबके बीच प्रधानमंत्री होंगे कल

अलकनंदा रो-रो यान से जैसे ही प्रधानमंत्री मोदी ललिता घाट पर कदम रखेंगे, उनकी नजरों के सामने प्रस्तावित श्रीकाशी विश्वनाथ धाम कारिडोर की झांकी होगी। इसे तैयार करने में विद्यापीठ व बीएचयू के छात्र-छात्राएं दिन-रात जुटे हैं। यहां से कार में सवार होकर प्रधानमंत्री न सिर्फ कारिडोर को देखेंगे, बल्कि श्री काशी विश्वनाथ को शीश भी नवाएंगे। सैलानियों में इस बात की चर्चा आम रही कि देव-दीपावली पर देश का मुखिया हम सबके बीच होगा। 

दोपहर तक सख्ती नहीं थी तो सैलानी दशाश्वमेध घाट की ओर से कौतूहलवश ललिता घाट पर पहुंच रहे थे, जबकि मणिकर्णिका घाट से आना-जाना पूरी तरह प्रतिबंधित था। दोपहर बाद दूसरी ओर यानी त्रिपुरा भैरवी घाट पर भी दो स्तरीय बैरिकेडिंग कर दी गई। ऐतिहासिक श्रीपशुपतिनाथ नेपाली मंदिर की छत से लेकर घाटों की सीढिय़ों तक चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबल पूरी मुस्तैदी से तैनात रहे। वहीं नदी में जल पुलिस, एनडीआरएफ, 34वीं वाहिनी पीएसी भुल्लनपुर व 36वीं वाहिनी पीएसी रामनगर के जवान बराबर गश्त करते नजर आए। उधर, गंगा उस पर रेती में विद्यापीठ व बीएचयू के छात्र सैंड आर्ट की अपनी कलाकारी को मूर्त रूप देने में जुटे रहे। इस पार घाट किनारे बनी सीमेंटेड छतरी को गुलाबी व लाल रंग में रंगने के साथ घाट की दीवारों पर स्वागत स्लोगन, दीप व भारतवर्ष की आकृति उकेरी जा रही थी। स्थानीय निवासियों के साथ ही सैलानी इस पूरे नजारे को अपने मोबाइल व कैमरे में कैद करते रहे। कोई सेल्फी लेता नजर आया तो कुछ लोग ग्रुप फोटोग्राफी में मशगूल रहे।

प्रधानमंत्री के सभास्थल पर तैयारियां अंतिम चरण में 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देव दीपावली पर आगमन और प्रस्तावित स्थानों पर तैयारियां अंतिम चरण में है। संबंधित विभाग अपने कामों को अंतिम मूर्तरूप देेने में लगे हैं। रविवार को दोपहर तक सभी विभागाध्यक्षों और जिम्मेदारों को काम पूरा करने की रिपोर्ट जिला प्रशासन को करनी है। मिर्जामुराद के खजुरी में जनसभा को लेकर चल रही तैयारियां ज्यादातर पूरी हो चुकी हैं। खजुरी पुलिस चौकी के सामने कृषि विज्ञान केंद्र के पास और सूजा बाद में हेलीपैड बनकर तैयार हो गया है। हाइवे किनारे खेत में 30 मीटर सर्किल के हैलीपैड बनने के साथ ही 300 फीट चौड़ा व 433 फीट लंबा बन रहे जर्मन हैंगर पंडाल को अंतिम रूप दिया जा रहा। पंडाल में 60 फीट चौड़ा, 32 फीट लंबा और 8 फीट ऊंचे मंच काम भी काम करीब पूरा हो चुका है।

पीएम काशी में रहेंगे सात घंटा 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 नवंबर को देवदीपाली पर आएंगे। वाराणसी में लगभग सात घंटे रहेंगे। पीएम का प्रोटोकाल जिला प्रशासन को प्राप्त हो चुका है। पीएम सबसे पहले दोपहर सवा दो बजे के आसपास खजुरी हेलीपैड पर उतरेंगे। नेशनल हाइवे की राजातालाब से हंडिया तक 2447 करोड़ की लागत से बने 72.64 किमी लंबे सिक्स लेन सड़क का लोकार्पण करने के बाद जनसभा को संबोधित करेंगे। इस दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे। प्रधानमंत्री खजुरी में लगभग 40 मिनट तक रहेंगे। इसके बाद विमान से डोमरी आएंगे। डोमरी से फिर वाहन से श्रीकाशी विश्वनाथ धाम पहुंचेंगे। कारिडोर को देखने के बाद मंदिर प्रशासन की ओर से एक प्रजेंटेशन भी रखा जाएगा। इसके बाद वह राजघाट आएंगे। प्रधानमंत्री राजघाट पर सवा पांच बजे पहला दीपक जलाएंगे। पीएम के दीपक जलाते ही सभी घाटों पर दीये जलने शुरू हो जाएंगे।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि एमएलसी चुनाव को देखते हुए पीएम के कार्यक्रम वास्ते निर्वाचन आयोग से अनुमति मांगी गई थी, आयोग ने कुछ शर्तों के साथ हरी झंडी दे दी है। राजघाट पर पीएम लगभग 45 मिनट तक रहेंगे। पर्यटन विभाग की वेबसाइट पावन पथ की लांचिंग के साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम देखने के बाद शाम 5.45 बजे से बोट से देवदीपावली को निहारेंगे। चेतसिंह किला पर लेजर शो देखने के बाद शाम साढ़े सात बजे के आसपास सारनाथ पहुंचकर लाइट एंड साउंड शो को देखेंगे। लगभग 40 मिनट सारनाथ में गुजारने के बाद रात सवा आठ बजे बाबतपुर एयरेपार्ट के लिए प

ढोल-नगाड़े से पीएम मोदी का स्वागत करेगी भाजपा 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देव दीपावली को बनारस आ रहे हैं। भाजपा की ओर से उनका भव्य स्वागत किया जाएगा। इसके लिए गुलाब बाग स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में शनिवार को बैठक हुई। बनाए गए स्वागत प्वाइंट पर जिम्मेदारी सौंपी गई। भाजपा प्रदेश सह-प्रभारी सुनील ओझा के मार्ग दर्शन में 20 से अधिक स्थानों पर स्वागत की तैयारी हो रही है। महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय एवं जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा को स्वागत स्थलों पर कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी सौंपने का निर्देश दिया गया है। पीएम मोदी के तय यात्रा मार्ग पर भाजपा कार्यकर्ता हाथों में पार्टी का झंडा लेकर ढोल-नगाड़े व गाजे-बाजे, फूल-मालाओं के साथ स्वागत करेंगे।

इसके लिए जिला, महानगर व मंडल के पदाधिकारियों को दायित्व सौंपा गया है। महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय ने बताया कि राजघाट में आयोजित कार्यक्रम में आने वालों की सुविधा के लिए चार स्थानों पर पार्किंग स्थल बनाये गए हैं जो क्रमश: काशी स्टेशन, भदऊ चुंगी मैदान, आदमपुर जोन कार्यालय व रेलवे कालोनी तय किया गया है। क्षेत्रीय मीडिया प्रभारी नवरतन राठी ने बताया कि राजघाट पर मंच व्यवस्था व कार्यक्रम स्थल की जिम्मेदारी नागेंद्र रघुवंशी व आलोक श्रीवास्तव, सुरक्षा का दायित्व नीरज जायसवाल, लकी भारद्वाज व आशु श्रीवास्तव, दर्शक दीर्घा की जिम्मेदारी आत्मा विशेश्वर व साधना वेदांती, पार्किंग स्थल का दायित्व डा. हरि केशरी व रोहित जायसवाल, स्वच्छता की जिम्मेदारी नरसिंह दास व शिव प्रकाश मौर्या को सौंपी गई है। संचालन काशी क्षेत्र के महामंत्री अशोक चौरसिया ने किया। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप