वाराणसी [राकेश पांडेय]। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब गरीबों को अपनी बीमारी को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। रुपयों के अभाव में इलाज कराने के बजाय बीमारी को झेलना नहीं पड़ेगा। अब भारत सरकार बीमा कंपनियों के साथ मिल कर इसकी जिम्मेदारी उठाएगी। एक साल में पांच लाख तक के इलाज का खर्चा मोदी सरकार बीमा कंपनियों के साथ मिल कर उठाएगी। इसके लिए ही केंद्र सरकार आयुष्मान भारत योजना लेकर आ रही है।
फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के साथ सोमवार को बनारस आए पीएम ने फ्रांसीसी मेहमान को गंगा में नौका विहार कराया। अस्सी से लेकर दशाश्वमेध घाट तक के बीच हुए नौका विहार के दौरान घाटों पर बनारस की संस्कृति से जुड़ी झांकियों ने राजनेताओं को अभिभूत कर दिया। उससे पूर्व दोनों राजनेता मीरजापुर गए जहां फ्रांसीसी कंपनी के सहयोग से 650 करोड़ की लागत से स्थापित 75 मेगावाट के सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन किया। मीरजापुर से लौट कर दोनों लोगों ने दीनदयाल हस्तकला संकुल जाकर बुनकरी और हस्तशिल्प के उत्पादों का अवलोकन किया। गंगा में नौका विहार के बाद नदेसर पैलेस में लंच के दौरान मोदी और मैक्रों के साथ फ्रांस की फस्र्ट लेडी ब्रिगिट मैक्रों भी मौजूद थीं।
लंच के बाद मोदी मुख्यमंत्री योगी के साथ डीजल रेल इंजन कारखाना पहुंचे और विभिन योजनाओं से लाभान्वित महिलाओं को प्रमाण पत्र, आवास की चाबी और चेक आदि दिया। पीएम ने बनारस में करीब 800 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास कर सौगात दी।
इस दौरान भाषण में मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना से देश में निजी अस्पतालों की संख्या बढ़ेगी और स्वास्थ्य के क्षेत्र में रोजगार भी बढ़ेगा। करीब 10 करोड़ परिवारों की चिंता खत्म होगी। मीरजापुर में सोलर प्लांट के बाबत पीएम ने कहा कि हमे उस लक्ष्य को प्राप्त करना है जबछतों ओर सौर ऊर्जा के पैनल हों और रसोई में खाना उसी ऊर्जा से संचालित चूल्हे पर बने। न गैस की जरूरत होगी न पर्यावरण को नुकसान पहुंचेगा। सूर्य की शक्ति का उपयोग बढ़ाना होगा हमें। पीएम ने इसके लिए आइआइटियंस का भी आह्वान किया कि वे इस दिशा में और इनोवेशन करें।
पीएम ने काशीवासियों का आभार जताते हुए कहा कि फ्रांसीसी राष्ट्रपति का जितना जोरदार स्वागत हुआ है उससे दोनों देश की दोस्ती और प्रगाढ़ होगी। इस दोस्ती पर काशी ने प्रेम वर्षा कर दी है।

कचरा महोत्सव का उद्घाटन
डीरेका के मैदान में पीएम ने कचरा महोत्सव का उद्घाटन किया। इस दौरान कचरे से बने सजावटी सामानों की प्रदर्शनी का अवलोकन भी पीएम ने करीब 15 मिनट किया। मंच से बोले कि मुझे न पसंद करने वाले तंज कसेंगे कि मोदी अब कचरा महोत्सव कर रहे। मैं उन लोगों को बताना चाहता हूं कि कोई भी चीज व्यर्थ नहीं होती। बस निकम्मी चीज का उत्तम प्रयोग करना सीखना होगा। वेस्ट में बेस्ट और कबाड़ से जुगाड़ की विधि अपनानी होगी।

मंडुआडीह-पटना इंटरसिटी को हरी झंडी
प्रधानमंत्री ने मंडुआडीह रेलवे स्टेशन पहुंचकर बनारस से पटना के बीच नई ट्रेन मंडुआडीह-पटना जनशताब्दी को हरी झंडी दिखाई। उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्र नाथ पांडेय भी मौजूद थे।

एक योग्य योजक की जरूरत : योगी
डीरेका की सभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पीएम के प्रयासों से देश में तेजी से विकास हो रहा है। यूपी में हम कचरा महोत्सव कर रहे हैं। कोई भी चीज व्यर्थ नहीं होती है। बस एक योग्य योजक की जरूरत होती है बेकार की चीजों को उपयोगी बनाने के लिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुआल मैक्रों के लिए बेहतरीन मेजबान साबित हुए। वाराणसी के एयरपोर्ट पर मैक्रों तथा उनकी पत्नी का स्वागत करने वाले पीएम मोदी ने उनके साथ मीरजापुर में सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन किया। इसके बाद उन्होंने वाराणसी में गंगा नदी में नौका विहार किया। गंगा नदी में नौका विहार के बाद पीएम मोदी ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के साथ होटल में लंच भी किया। 

नौका विहार के बाद पीएम मोदी के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति होटल पहुंचे। मेजबान और मेहमान दोनों ने यहां लंच किया। लंच के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति होटल में ही रहेंगे जबकि पीएम मोदी डीरेका में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने जाएंगे।डीरेका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी को कई सौगात देंगे। अब तक की यात्रा में मेजबान पीएम मोदी गाइड की भूमिका निभा रहे हैं। नौका विहार करेन के दौरान वो काशी के अलग अलग घाटों के बार में जानकारी देते नजर आए। 

अतिथि देवो भव: परंपरा का पालन करने वाली काशी अपनी वैभवशाली सांस्कृतिक और कलात्मक विरासत के साथ गंगा घाटों पर सत्कार उत्सव की साक्षी बनने जा रही है। घाटों पर बने महलों से लेकर सीढिय़ां तक और गंगा की लहरों समेत रेती भी अतिथियों के इस आगमन पर सजी है। काशी हर घाट पर अलग उत्साह का अलग ही रंग दिख रहा है। 

वाराणसी के हस्तकला संकुल में पीएम मोदी अपने विदेशी मेहमान के साथ जब यहां पहुंचे तो तबले की थाप पर शहनाई की मंगल ध्वनि से उनका स्वागत हुआ। वीवीआईपी ने संकुल में प्रवेश किया तो तो एक तरफ एंफीथिएटर में चित्रकूट का मंचन चला तो दूसरी तरफ पत्थर, काष्ठ, वस्त्र से जुड़े शिल्पी, बुनकर अपनी-अपनी विधाओं का सजीव प्रदर्शन किया। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भ्रमण के दौरान फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल फैक्रों ने नौका विहार का भी आनंद उठाया।

 

दीनदयाल हस्तकला संकुल से पीएम मोदी के साथ राष्ट्रपति मैक्रों ने सीधा अस्सी घाट का रुख किया। दीनदयाल हस्तकला संकुल में आज पत्नी के साथ वाराणसी के साथ ही देश की कला की विधाओं से परिचय प्राप्त करने के बाद फ्रांस राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों दोपहर में वहां से निकले। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी व फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों अस्सी घाट पर दोपहर बजे पहुंचे। वहां से बोट पर सवार होकर गंगा नदी के विभिन्न गंगा घाटों से होते हुए दशाश्वमेध घाट पर पहुंचे।

इससे पहले मीरजापुर में सोलर पावर प्लांट के उद्घाटन के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद फिर से उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी लौटे हैं। पीएम मोदी के साथ मैक्रों तथा उनकी पत्नी दीनदयाल हस्तकला संकुल में विभिन्न स्टॉल का जायजा लिया। फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी भी समृद्ध काशी की विरासतों से परिचित हो रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मीरजापुर में विंध्य की धरा पर पहुंचते ही फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों का परंपरागत ढंग से स्वागत किया गया। यहां पर इन दो बड़े नेताओं के कंधे पर मां विंध्यवासिनी का आशीर्वाद दिखा। इनका चुनरी से स्वागत किया गया। 

मीरजापुर में प्रधानमंत्री के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने 650 करोड़ की लागत से बने सौ मेगा वॉट के सोलर प्लांट का उद्घाटन किया। यह प्लांट दादरकला में 650 करोड़ रुपए की लागत से बना है। इस दौरान कंपनी के अधिकारियों ने प्लांट की विशेषताओं के बारे में भी जानकारी दी। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी तथा फ्रांस के राष्ट्रपति वाराणसी के लिए रवाना हो गए। इस दौरान सीएम योगी योगी आदित्यनाथ तथा केंद्रीय मंत्री व मीरजापुर से सांसद अनुप्रिया पटेल भी मौजूद थे। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भ्रमण के दौरान फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल फैक्रों ने नौका विहार का भी आनंद उठाया। दीनदयाल हस्तकला संकुल से पीएम मोदी के साथ राष्ट्रपति मैक्रों ने सीधा अस्सी घाट का रुख किया। दीनदयाल हस्तकला संकुल में आज पत्नी के साथ वाराणसी के साथ ही देश की कला की विधाओं से परिचय प्राप्त करने के बाद फ्रांस राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों दोपहर वहां से निकले। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी व फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों अस्सी घाट पर पहुंचे। वहां से बोट पर सवार होकर गंगा नदी के विभिन्न गंगा घाटों से होते हुए दशाश्वमेध घाट पर पहुंचे।

इससे पहले मीरजापुर में सोलर पावर प्लांट के उद्घाटन के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद फिर से उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी लौटे। पीएम मोदी के साथ मैक्रों तथा उनकी पत्नी दीनदयाल हस्तकला संकुल में विभिन्न स्टॉल का जायजा लिया।फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी भी समृद्ध काशी की विरासतों का जायजा लिया।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मीरजापुर में विंध्य की धरा पर पहुंचते ही फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों का परंपरागत ढंग से स्वागत किया गया। यहां पर इन दो बड़े नेताओं के कंधे पर मां विंध्यवासिनी का आशीर्वाद दिखा। इनका चुनरी से स्वागत किया गया। 

मीरजापुर में प्रधानमंत्री के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने 650 करोड़ की लागत से बने सौ मेगा वॉट के सोलर प्लांट का उद्घाटन किया। यह प्लांट दादरकला में 650 करोड़ रुपए की लागत से बना है। इस दौरान कंपनी के अधिकारियों ने प्लांट की विशेषताओं के बारे में भी जानकारी दी। दादरकला में 382 एकड़ में स्थापित सोलर प्लांट ने उद्घाटन के बाद काम शुरु कर दिया। 650 करोड़ की लागत से बने इस प्लांट से बिजली उत्‍पादन को जिगना पावर हाउस के ग्रिड से जोड़ा गया है। प्रथम चरण में 75 मेगावाट बिजली का उत्‍पादन किया जा रहा है धीरे धीरे इसकी क्षमता को बढा कर 100 मेगावाट किया जाना है।  

 

इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी तथा फ्रांस के राष्ट्रपति वाराणसी के लिए रवाना हो गए। दादरकला में 382 एकड़ में स्थापित सोलर प्लांट से प्रतिदिन 5 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन होगा। इस दौरान सीएम योगी योगी आदित्यनाथ तथा केंद्रीय मंत्री व मीरजापुर से सांसद अनुप्रिया पटेल भी मौजूद थे।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वायुसेना के विशेष विमान से अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। उनके आगमन के कुछ देर बाद ही फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों भी फाल्कन विमान से एयरपोर्ट पर पहुंचे।एयरपोर्ट पर ही मौजूद भारतीय सेना के हेलिकाप्टर से पीएम व फ्रांस के राष्ट्रपति मीरजापुर स्थित दादरकला में सोलर प्लांट के उद्धघाटन के लिए सुबह 11 बजे रवाना हो गए। मीरजापुर के दादर कला में 100 मेगावाट के सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन। लागत 650 करोड़ आई है।

फ्रांस के राष्ट्रपति और उनकी पत्नी की अगवानी स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की। एयरपोर्ट पर ही मौजूद भारतीय सेना के हेलिकाप्टर से पीएम व फ्रांस के राष्ट्रपति मीरजापुर स्थित दादरकला में सोलर प्लांट के उद्धघाटन के लिए सुबह 11 बजे रवाना हो गए। इस दौरान एयरपोर्ट पर भारी सुरक्षा बल की तैनाती रही। हवाई सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सेना की 3 हेलीकॉप्टर भी साथ में हैं। वहां पर दोनों राजनेता सोलर पावर प्लांट का उद्धघाटन करेंगे। इस सोलर पावर प्लांट की स्थापना फ्रांसीसी कंपनी के सहयोग से किया गया है।

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों को लेकर फॉल्कन विमान यहां के इंटरनेशनल एयरपोर्ट बाबतपुर पहुंच गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही राज्यपाल राम नाईक व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और वरिष्ठ अधिकारियों ने फ्रांस के राष्ट्रपति तथा उनकी पत्नी का स्वागत किया।

फ्रांस के राष्ट्रपति और उनकी पत्नी की अगवानी स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की। एयरपोर्ट पर ही मौजूद भारतीय सेना के हेलिकाप्टर से पीएम व फ्रांस के राष्ट्रपति मीरजापुर स्थित दादरकला में सोलर प्लांट के उद्धघाटन के लिए सुबह 11 बजे रवाना हो गए। इस दौरान एयरपोर्ट पर भारी सुरक्षा बल की तैनाती रही। हवाई सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सेना की 3 हेलीकॉप्टर भी साथ में हैं। इससे पहले लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर राज्यपाल राम नाईक के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वायुसेना के विमान बीबीजे 737 से लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बाबतपुर पर पहुंचे । यहां पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों का स्वागत किया।पीएम नरेंद्र मोदी सुबह 10:22 बजे पहुंच गए। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों फाल्कन विमान से अपनी पत्नी ब्रिगेटी मैक्रों के साथ पहुंचे ।पीएम नरेंद्र मोदी की अगवानी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही राज्यपाल राम नाईक, सीएम योगी आदित्यनाथ पुराने टर्मिनल भवन के वीआईपी लाउंज में गए। इससे पहले राज्यपाल राम नाईक तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वाराणसी के एयरपोर्ट पर पहुंचे थे। राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने मुख्य टर्मिनल भवन के वीआईपी लाउंज में प्रधानमंत्री के आगमन का इंतजार किया। इनके साथ अन्य अधिकारी पुराने टर्मिनल भवन के वीआईपी लाउंज में थे।

By Dharmendra Pandey