वाराणसी, जेएनएन। विगत कुछ दिनों पूर्व केंद्रीय विद्यालय बीएचयू के कक्षा 5 के छात्र सम्यक ओझा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गुल्लक भेजा था। बुधवार को सम्यक को प्रधानमंत्री द्वारा हस्ताक्षरित एक पत्र  प्राप्त हुआ जिसके बाद खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

पत्र में प्रधानमंत्री  ने सम्यक ओझा के प्रति आभार जताया और कहा है कि बाल्यावस्था में इस प्रकार के संस्कार जहां व्यक्तित्व का निर्माण करते हैं, वही राष्ट्र को भी समृद्ध करते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा है कि कोरोना महामारी  की लड़ाई में जो बच्चे अपना योगदान कर रहे हैँ वह सब हमारे लिए प्रेरणा का कार्य कर रहे हैं।

उन्होंने स्पष्ट कहा है कि पूरा देश इस महामारी का डटकर मुकाबला कर रहा है। ऐसे में हमारे देश के बच्चों की सजगता और भागीदारी इस लड़ाई को लगातार नई उर्जा दे रही है। उन्होंने आगे लिखा हैँ कि आपने इस अल्पायु में ही जीवन की इस गंभीर बात को समझकर व्यवहार करते हुए आपने जिस परिपक्वता का परिचय दिया  वह सराहनीय है। मुझे विश्वास है कि कोरोना महामारी के खिलाफ आप की यह पहल अन्‍य लोगों में भी मदद के लिए हाथ बढ़ाने को प्रेरित करेगी। 

खोजवां बाजार निवासी सम्यक ओझा वाराणसी के केंद्रीय विद्यालय में कक्षा 5 के छात्र हैं। उन्होंने अपना गुल्लक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को करोना संकट से लड़ने के लिए सीधे प्रधानमंत्री आवास पर भेज दिया था। सम्यक ओझा पिता उत्तम ओझा डॉक्टर हैं।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस