वाराणसी, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को करीब 1775 करोड़ रुपया का तोहफा दिया। उन्होंने डा. सम्पूर्णानंद स्टेडियम में 30 योजनाओं का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया। इस अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया।

वाराणसी के डा. सम्पूर्णानंद स्टेडियम, सिगरा में उन्होंने कहा कि दिव्य भव्य नव्य काशी में आठ सालों से विकास का जो उत्सव चल रहा है उसे एक बार फिर गति दे रहे हैं। काशी सदा से निरंतर प्रवाहमान रही है। काशी ने एक तस्वीर पूरे देश को दिखाई है जिसमें विरासत भी है, विकास भी है। ऐसी विरासत जिसे भव्य, दिव्य व नव्य बनान के काम निरंतर जारी है। ऐसा विकास जो काशी की सड़कों गलियों कुंड हो तालबों घाटों व पाटों, रेलवे स्टेशन से लेकर एयरपोर्ट तक निरंतर गतिमान है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि काशी में एक प्रोजेक्ट खत्म होता है तो चार नए शुरू हो जाते हैं। आज भी यहां 17 सौ करोड़ से अधिक के दर्जनों प्रोजेक्ट का शिलान्यास हुआ। काशी नें सड़क, पानी, बिजली, शिक्षा, स्वच्छता व सुंदरीकरण से जुड़ी हजारो करोड़ रुपये की परियोजनाएं शुरू हो चुकी हैं। हजारो करोड़ की परियोजनाओं पर काम जारी है। आत्मा वही काया में निरंतर नवीनता लाने का प्रयास कर रहे हैं। शिक्षा कौशल पर्यावरण स्वच्छता व्यापार के लिए जब प्रोत्साहन मिलता है, नए संस्थान बनते हैं। आस्था व अध्यात्म से जुड़े स्थानों को जब संवारा जाता है तो विकास प्रगतिशील होता है।

हर एक को बिजली पानी, घर मिलता है तो विकास संवेदनशील होता है। आज विकास में गतिशीलता, प्रगतिशीलता व संवेदनशीलता तीनों चीज है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि काशी के जागरूक नागरिकों ने जिस तर देश को दिशा देने का काम किया है उससे आनंदित हूं। संदेश दिया है कि शार्ट कट से देश का भला नहीं हो सकता। कुछ नेताओं का भला हो जाए लेकिन देश व जनता का भला नहीं होता। याद है 2014 में बाहर से आए लोग सवाल करते थे, यहां इतना कुछ अव्यवस्थित है कैसे ठीक होगा। उनकी चिंता जायज थी जिधर नजर डालो बदलाव, सुधार की गुंजाइश नजर आती थी। लगता था दशकों से काम हुआ ही नहीं है। ऐसे में लोगों के लिए यह दे-दो जैसे शार्टकट से ज्यादा सोच में न था लेकिन मैं बनारस के लोगों की दाद दूंगा कि सही रास्ता चुना। दो टूक कह दिया कि काम ऐसे हो जो वर्तमान को ठीक करे ही भविष्य को भी कई दशक तक बनारस को लाभ पहुंचाए।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज हम देख रहे हैं कि जब दूरगामी प्लानिंग होती है तो नतीजे भी निकलते हैं। आज काशी का इंफ्रास्ट्रक्चर कहां से कहां पहुंच गया है। इससे किसान नौजवान सभी को लाभ पहुंच रहा। व्यापार-कारोबार बढ़ रहा। रिक्शा वाला भी कह रहा इतना काम मिल रहा। कारोबारी कह रहा इतना माल उठ रहा। घर, सड़क बनने में स्टील, सीमेंट समेत निर्माण सामग्री वालों का कारोबार बढ़ रहा है। काशी रोजगार की दिशा में आगे बढ़ रही। आज काशी के चारो तरफ रिंग रोड, चौड़े नेशनल हाइवे, बाबतपुर सिटी लिंक रोड. आरओबी, फ्लाइओवर यह सब बनारस के लोगों का जीवन आसान बना रहे हैं। यह सुविधा और बढ़ने वाली है।

हमारे लिए विकास का अर्थ है गरीब, युवा, माताओं-बहनों सबका विकास। प्रधानमंत्री ने काशी व गंगा की स्वच्छता का संकल्प दिलाया। कहा बाबा श्रीकाशी विश्वनाथ के आशीर्वाद से हमारे हर संकल्प सिद्ध होने वाले हैं। सावन के दौरान यहां बाबा के भक्तों को दिव्य, भव्य और नव्य काशी का भी अनुभव मिलेगा। दुनिया भर के श्रद्धालुओं और पर्यटकों को काशी में आस्था और आध्यात्म का निर्बाध अनुभव मिले ये हम सभी का कमिटमेंट है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने हमेशा गरीब की समस्याओं का समाधान करने का प्रयास किया है, उसके सुख-दुख में साथ देने का प्रयास किया है कोरोना की मुफ्त वैक्सीन से लेकर गरीबों को मुफ्त राशन की व्यवस्था तक, सरकार ने आपकी सेवा का कोई अवसर छोड़ा नहीं है। हर गरीब परिवार को पक्का घर देना और हर ग्रामीण परिवार को पाइप के पानी से जोड़ने के संकल्पों पर हम तेजी से काम कर रहे हैं। जल जीवन मिशन के तहत पानी की दर्जनों परियोजनाओं पर काम शुरू हो चुका है। इससे हजारों परिवारों को, विशेष रूप से बहनों को बहुत सुविधा होगी। आज पीएम आवास योजना के तहत वाराणसी के 600 से अधिक गरीब परिवारों को अपना पक्का घर मिला है। जिन साथियों के घर का सपना आज पूरा हुआ है, उनको बहुत-बहुत बधाई। हमारे लिए विकास का अर्थ सिर्फ चमक-धमक नहीं है। हमारे लिए विकास का अर्थ है- गरीब, दलित, वंचित, पिछड़े, आदिवासी, माताएं-बहनें इन सभी का सशक्तिकरण।

प्रधानमंत्री ने इससे पहले वाराणसी के डा. सम्पूर्णानंद स्टेडियम, सिगरा का अवलोकन किया। बनारसी अंदाज में उन्होंने कहा कि काशी में कहल जाला सात वार अउर नौ त्योहार होला। कहे क मतलब ई कि एहां रोज-रोज नया-नया त्योहार मनावल जाला। आप सबन के प्रणाम हौ। उन्होंने विधानसभा चुनाव में साथ देने के लिए आभार जताया। अभिनंदन किया।

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर कहा कि वाराणसी में डा सम्पूर्णानंद स्टेडियम में विश्वस्तरीय आधुनिक स्पोट्र्स कांप्लेक्स का निर्माण हो रहा है। इस कांप्लेक्स में ओलिंपिक की 28 में से 22 स्पर्धाओं के लिए खिलाड़ी तैयार किए जाएंगे।

Edited By: Dharmendra Pandey