वाराणसी, जागरण संवाददाता। अपर निदेशक/मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. वीबी सिंह का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस पीएम आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन का काशी से शुभारंभ किया, उसका काशी के साथ पूर्वांचल के भी करोड़ों लोगों का लाभ मिलेगा। कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई इस योजना का उद्देश्य वाराणसी सहित प्रदेश के समस्त जिलों के शहरी व ग्रामीण इलाकों में प्राथमिक व गंभीर स्वास्थ्य हालातों के लिए सुविधाओं में मौजूदा खाई को पाटने का है। इस योजना के नए एवं आधुनिक सुविधाओं से लैस ग्रामीण, शहरी स्वास्थ्य व उपचार केंद्रों की शुरूआत की जाएगी। इसके साथ ही शहरी स्वास्थ्य व उपचार केंद्रों की स्थापना की जाएगी‌।

उन्होंने कहा कि वाराणसी सहित पांच लाख से अधिक की आबादी वाले जिलों में क्रिटिकल केयर केंद्रों की स्थापना की जाएगी। ये योजना 64 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की है और इसका मकसद देश में हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाना है। सीएमओ ने बताया कि इस मिशन के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित किए जाने वाले हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का सुंदरीकरण, शहरी क्षेत्रों में शहरी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर की स्थापना व ब्लाक स्तर पर ब्लाक पब्लिक हेल्थ इकाइयों की स्थापना तथा जिले स्तर पर इंटीग्रेटेड पब्लिक हेल्थ क्लब की स्थापना करना है यह योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से अलग होगी।

बताया कि इस योजना के बारे में जानने के लिए जनपद के सभी राजकीय चिकित्सालयों सहित ग्रामीण, शहरी प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर लिंक के माध्यम से स्वास्थ्यकर्मी वर्चुअल रूप से जुड़े थे। स्वास्थ्य केंद्रों में मौजूद समस्त चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों ने प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना को सराहा। मिशन के शुभारंभ के समय सीएमओ कार्यालय का समस्त स्टाफ, राजकीय चिकित्सालयों व नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, चिकित्सक, स्टाफ नर्स पैरामेडिकल स्टाफ आदि द्वारा वर्चुअल के माध्यम से प्रतिभाग किया गया था। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से खास व्यवस्था की गई थी।  

Edited By: Abhishek Sharma