वाराणसी, जेएनएन। प्रधानमंत्री व मुख्‍यमंत्री आवास का लक्ष्‍य इस वित्‍तीय वर्ष का आवंटित कर दिया गया है। हालांकि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष अच्‍छा खासा आवास का लक्ष्‍य कम किया गया है। इसके पीछे कोविड संक्रमण वजह बतायी जा रही है। हालांकि बाद में इसे रिवाइज करने की उम्‍मीद भी जताई जा रही है। पिछले वित्‍तीय वर्ष भी आवास के लक्ष्‍य कई मर्तबा बदलाव किया गया था।

फ‍िलहाल प्रधानमंत्री आवास के लक्ष्‍य के मुताबिक जिले इस बार 5037 आवास बनेंगे। पिछले वर्ष 7783 आवास बनाने का लक्ष्‍य आवंटित हुआ था। इसमें लगभग सभी को तीसरी किस्‍त की धनराशि भी भेजी जा चुकी है। मतलब आवास का लक्ष्य लगभग शत प्रति‍शत पूरा होना है। इस वित्‍तीय वर्ष के आवंटित लक्ष्‍य में 1325 आवास इस बार चोलापुर ब्‍लाक में बनेगा। सबसे कम यानी 105 आवास ब्‍लाक विद्यापीठ में बनेंगे। आराजीलाइन में 629 आवास का निर्माण होगा। बड़ागांव में 928, ब्‍लाक चिरईगांव में 411, हरहुआ ब्‍लाक में 434, पिंडरा में 748 व सेवापुरी ब्‍लाक में 457 आवास का निर्माण होगा। ब्‍लाक काशी विद्यापीठ में कम आवास के लक्ष्‍य आवंटन की वजह ज्‍यादा गांवों का शहर में शामिल होना बताया जा रहा है।

इसी प्रकार मुख्‍यमंत्री आवास का भी लक्ष्‍य शासन से आवंटित कर दिया गया है। इस बार 150 आवास निर्माण का ही लक्ष्‍य आवंटित किया गया है। जबकि पिछले वित्‍तीय वर्ष में 613 आवास का टारगेट वाराणसी को दिया गया था। आवास कम आवंटन की वजह अफसरों को भी समझ में नहीं आ रहा है लेकिन इतना जरूर बताया जा रहा है कि इसमें आगे जाकर बदलाव संभव है।

मुख्‍यमंत्री आवास का आवंटित

आराजीलाइन - 06

बड़ागांव -00

चिरईगांव -01

चोलापुर -01

हरहुआ -29

काशी विद्यापीठ -00

पिंडरा - 65

सेवापुरी - 48

Edited By: Abhishek Sharma