वाराणसी, जेएनएन। परिषदीय विद्यालयों में बच्चों की औसत उपस्थिति 60 फीसद है। इसके बावजूद कुछ विद्यालय रजिस्टर में बच्चों की उपस्थिति बढ़ा दे रहे हैं। बेसिक शिक्षा विभाग उपस्थिति व अनुपस्थिति का खेल रोकने को प्रेरणा एप लांच करने जा रहा। इसके तहत अब शिक्षकों को प्रार्थना सभा में मौजूद बच्चों की फोटो खींचकर प्रेरणा एप के माध्यम से अपलोड करना होगा। सॉफ्टवेयर बच्चों की संख्या स्वत: गिन लेगा।

शिक्षक दिवस से होगा अमल

बेसिक शिक्षा विभाग पायलट प्रोजेक्ट के तहत पांच सितंबर को शिक्षक दिवस पर वाराणसी सहित पांच जिलों में प्रेरणा एप लांच करने की तैयारी में है। सफल होने पर अन्य जिलों में इसे लागू किया जाएगा। शिक्षकों को बच्चों संग अपनी फोटो भी अपलोड करनी होगी। ऐसे में कार्यालय में बीएसए को बच्चों-शिक्षकों की उपस्थिति का आंकड़ा ऑनलाइन मिल जाएगा।

रुकेगी शिक्षकों की लेटलतीफी

यही नहीं स्कूलों में शिक्षक कब पहुंचे इस एप के माध्यम से यह भी आसानी से पता लगाया जा सकता है। ऐसे में इस एप के माध्यम से शिक्षकों की लेटलतीफी पर अंकुश लगने की संभावना है। वहीं बच्चों की वास्तविक उपस्थिति में खेल रुकेगा।

बोले अधिकारी :

पायलट प्रोजेक्ट के तहत जनपद में पांच सितंबर से प्रेरणा एप लागू करने की योजना है। इसे सफल बनाने 21 से 23 अगस्त तक लखनऊ में प्रशिक्षण होगा। इसमें एडी-बेसिक व बीएसए भी बुलाए गए हैं।

- जय सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी।

Posted By: Saurabh Chakravarty