जागरण संवाददाता, वाराणसी : बीएचयू स्थित चिकित्सा विज्ञान संस्थान के यूरोलाजी विभाग द्वारा सर सुंदरलाल अस्पताल स्थित शताब्दी सुपर स्पेशियलिटी ब्लाक में पहली बार किसी बच्चे के गुर्दे की पथरी का आपरेशन किया गया है। 21 माह का दीपक साहनी बलिया जनपद के कस्बा रेवती निवासी राजू साहनी का पुत्र है। बीते 10 मई को दूरबीन विधि से हुए आपरेशन में बच्चे के बाएं गुर्दे से जो पथरी निकाली गई उसका आकार तीन गुणे दो सेमी था।

यूरोलाजी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डा. यशस्वी सिंह ने बताया कि आपरेशन की इस प्रक्रिया को 'ट्यूबलेस मिनी परक्यूटेनिया नेफ्रोलिथोटामी' कहा जाता है। इसे छोटे बच्चों में करना अत्यंत जटिल व चुनौतीपूर्ण था। अच्छी रिकवरी मिलने पर आपरेशन के तीसरे दिन मरीज को छुट्टी दे दी गई। आपरेशन की अगुवाई विभागाध्यक्ष प्रो. समीर त्रिवेदी ने की। इसमें विभाग के डा. उज्ज्वल कुमार पाठक का भी अहम योगदान रहा। यह जटिल आपरेशन एनीस्थिसिया एवं बालरोग विभाग के सहयोग से किया गया। बताया कि पूर्वाचल में पहली बार इस तरह के आपरेशन की सफलता के बाद 14 माह के दो अन्य बच्चों के भी गुर्दे की पथरी के आपरेशन की योजना बनाई गई है। बताया कि पहले इस तरह के आपरेशन के लिए मरीजों को नई दिल्ली, मुंबई या वेल्लूर जाना पड़ता था। बीएचयू आयुर्वेद संकाय में खुला सांख्यिकीय नोडल केंद्र

जागरण संवाददाता, वाराणसी : आयुर्वेद संकाय, बीएचयू एवं इंस्टीट्यूट आफ एप्लाइड स्टेटिस्टिक्स कानपुर की ओर से शुक्रवार को धन्वंतरित भवन में रिसर्च मेथडोलाजी व जैव सांख्यिकी विषय पर दो दिवसीय कार्यशाला शुरू हुई। आयुर्वेद संकाय के प्रमुख प्रो. केएन द्विवेदी ने बताया कि महर्षि चरक प्रोग्राम सांख्यिकीय का नोडल केंद्र बनने का सौभाग्य इस संकाय को मिला है। यह अत्यंत हर्ष का विषय है। भविष्य में शोध के क्षेत्र में यह मिल का पत्थर साबित होगा। किसी भी नए एकेडमिक कार्य की शुरूआत संकाय के लिए गौरव की बात होती है।

Edited By: Jagran