आजमगढ़, जागरण संवाददाता। महंगाई की मार से आम आदमी पहले से परेशान चल रहा है। अब उसके बजट में हर दिन पेट्रोल की आग लग रही है। किसान से लेकर कारोबारी तक परेशान हैं। पेट्रोल का दाम सौ रुपये लीटर के पार पहुंच गया है। कम पूंजी वाले दोपहिया से सामान की आपूर्ति कर व्यवसाय करते हैं, लेकिन अब उनके सामने भी मुश्किल खड़ी हो रही है।

पेट्रोल, डीजल के दाम में लगातार वृद्धि होने से आम आदमी परेशान है।पेट्रोल का दाम बढ़कर 103 रुपये पार तो डीजल का दाम बढ़कर 95 के पार हो गया है।

आधुनिक युग में सभी लोगों को पेट्रोल और डीजल की दरकार है।बिना पेट्रोल और डीजल जीवन का पहिया घूमना कठिन है। इसके बावजूद लोग किसी तरह काम करते हैं।विपक्षी दलों का विरोध में जनता के किसी काम न आ सका। पेट्रोल, डीजल के दाम में लगातार बढ़ोत्तरी के कारण हर चीज का दाम आसमान छू रहा है।

-छोटे-छोटे फुटकर सामानों को खरीदने में भी पेट्रोल और डीजल के दामों का बढ़ना कहीं न कहीं प्रभावित करता नजर आ रहा है।हम छोटे दुकानदार को रोजगार करने में मार्जिन कम मिल रही है। -लालचंद, शाहगढ़।

-खेती-किसानी करके जीवन यापन करना आज कठिन हो गया है।पंपसेट हो या नलकूप उसके संचालन के लिए डीजल की जरूरत पड़ती है, लेकिन महंगाई के कारण खेती की लागत बढ़ती जा रही है। -विरेंद्र प्रताप गौतम उर्फ गुड्डू, पाही जमीन पाही।

-महंगाई आज जनता के सामने गंभीर समस्या बनती जा रही है। पेट्रोल, डीजल के दाम ही नहीं, बल्कि रोजमर्रा के सामानों में भी लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। जनता महंगाई के बोझ तले कराह रही है। -मुमताज अहमद, शाहिद नगर।

-जनता को रोजी-रोटी के लिए घर से शहर तक जाना होता है।इसके लिए उसे पेट्रोल भरवाने की आवश्यकता पड़ती है।आज हाल यह हो गया है कि लोग मोटरसाइकिल छोड़कर साइकिल से यात्रा करने के लिए मजबूर हो चले हैं। -अरशद, इब्राहिमपुर।

Edited By: Abhishek Sharma