वाराणसी, जेएनएन। कैंट रेलवे स्टेशन के रिटायरिंग रूम की सुरक्षा को एक बदमाश ने पलीता लगा दिया। एसी डॉरमेट्री में ठहरे दिल्ली के एक कारोबारी की अटैची-बैग लेकर भाग निकला। वह तीन दिनों से डॉरमेट्री में रुका था लेकिन रेलकर्मियों को भनक नहीं लगी। हालांकि, सीसीटीवी कैमरे की चोर कैद हो गया है। दिलचस्प कि ठोस सुबूत के बावजूद जीआरपी ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की है। दिल्ली के गाजियाबाद निवासी ब्रह्म किशोर शर्मा कारोबार के सिलसिले में गुरुवार की सुबह वाराणसी आए थे। उन्हें गुरुवार को ही रात में मैसूर जाना था, लिहाजा आनलाइन एसी डॉरमेट्री बुक की थी।

कैंट रेलवे स्टेशन पर पहुंचे तो बेड लॉकर में अटैची, बैग रख नहाने चले गए। कपड़ा चेंज करने को लॉकर खोले तो अटैची बैग दोनों गायब थे। उन्होंने हो-हल्ला मचाया तो रेलकर्मी पहुंच गए। जीआरपी पहुंची तो डॉरमेट्री में ही ठहरा राजाराम राव बैग, अटैची लेकर खुफिया कैमरे में दिखा। छानबीन में आरोपित के तीन दिनों से डॉरमेट्री में ठहरने की बात सामने आई। उसका फोन स्वीच ऑफ बता रहा था। जीआरपी ने रिपोर्ट दर्ज करने के लिए पीडि़त को शाम में बुलाया, लेकिन वहां आनाकानी की जाने लगी। सिपाही ने उनसे मिसिंग की तहरीर मांगी तो बहुत देर की कोशिश के बाद लाचार पड़ गए। पीड़ित ने बताया कि रात नौ बजे 16230 ट्रेन से मैसूर जाना था। मजबूरी में पुलिस की बात माननी पड़ी, ताकि आगे परेशानी न हो सके।

बोले इंस्‍पेक्‍टर जीआरपी : पीड़ित का केस दर्ज होगा। मैं जरूरी कार्य से कहीं चला गया था। पीड़ित मुझे फोन कर लेता तो ऐसी दिक्कत नहीं होती। उनका केस दर्ज होगा, आरोपित भी पकड़ जाएगा। - अशोक दुबे, इंस्पेक्टर जीआरपी

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप