वाराणसी, जेएनएन। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में नामांकन प्रक्रिया के आखिरी दिन नाम वापसी व चुनाव चिह्न का आवंटन हुआ। ब्लाकों पर सुबह से ही हो हल्ला मचना शुरू हुआ और शाम तक यह सिलसिला चलता रहा। कुछ यही हाल एलटी कालेज परिसर में भी जिला पंचायत सदस्य के नाम वापसी व चुनाव चिह्न आवंटन के दौरान भी रहा। नाम वापसी से अधिक चुनाव चिह्न चर्चा का विषय रहा। वर्णमाला के क्रम में पहले आने वाले अक्षरों के नाम के प्रत्याशियों को वरीयता के क्रम बुलाकर चुनाव चिह्न आवंटित किया गया। बहुतों को पसंदीदा चुनाव चिह्न मिले तो कुछ नाखुश दिखे। हालांकि बाद में सभी अपने- अपने तर्कों के आधार पर चुनाव चिह्न की उपयोगिता आदि का उल्लेखकर महिमा मंडित करने में जुट गए। चुनाव चिह्न आवंटन के साथ ही गांवों में अपनी जीत की जुगत में जुट गए।  प्रचार प्रसार शुरू हो गया है। हालांकि बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच प्रचार प्रसार करना प्रत्याशियों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं होगा।

ग्राम प्रधान पद के नामांकन, निरस्त व पर्चा खारिज पर्चा की स्थिति

ब्लाक ----नामांकन---- निरस्त

सेवापुरी ----703 -----02

बड़ागांव ---654-------02

पिंडरा-----830 -------03

हरहुआ ----476-------01

चोलापुर----741--------00

चिरईगांव---647--------05

आराजीइलान --855 -----03

काशी विद्यापीठ -492 ---01

बीडीसी पद के नामांकन व खारिज पर्चा

सेवापुरी -----598 -----00

बड़ागांव ---669--------07

ङ्क्षपडरा------576 -------01

हरहुआ -----496---- --03

चोलापुर-----550-------00

चिरईगांव---615-------02

आराजीइलान --857 -----01

काशी विद्यापीठ -552 ---01

बीडीसी पद के नामांकन व खारिज पर्चा

सेवापुरी -----598 -----00

बड़ागांव ---669--------07

पिंडरा------576 -------01

हरहुआ -----496---- --03

चोलापुर-----550-------00

चिरईगांव---615-------02

आराजीइलान --857 -----01

काशी विद्यापीठ -552 ---01

पंचायत में सीट की स्थिति

ग्राम प्रधान-- 694

ग्राम पंचायत सदस्य -- 8978

क्षेत्र पंचायत सदस्य -- 1007

जिला पंचायत सदस्य - 40

चुनाव चिह्न आवंटन में विलंब होने पर किया हंगामा

काशी विद्यापीठ ब्लाक : पंचायत चुनाव में नाम वापसी के दिन चुनाव चिह्न आवंटन को लेकर प्रत्याशी और उनके समर्थकों ने ब्लाक पर हंगामा किया। निर्वाचन कर्मियों पर लापरवाही बरतने और धीमी गति से काम करने का आरोप लगाया। ब्लाक पर बने काउंटरों पर चुनाव चिह्न के लिए प्रत्याशी सुबह की पहुंच गए। काफी समय बीतने के बाद भी उन्हें चुनाव चिह्न आवंटित नहीं हो रहे थे। देरी होने पर प्रत्याशी और उनके समर्थक बाहर हंगामा करने लगे। पुलिस के मना करने के बाद भी शांत नहीं हो रहे थे। बाद में ब्लाक कर्मियों ने उन्हें समझाकर शांत कराया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप