सोनभद्र, जेएनएन। सिंगरौली जनपद के बैढ़न कोतवाली अंतर्गत एमपीइबी कालोनी बिलौंजी निवासी पटेल परिवार से गणेश मूर्ति विसर्जन करने गये हृदेश व पवन सिंह नामक दो युवक बैढ़न के बलियरी स्थित मयार नदी में डूब गए। कोतवाली बैढऩ के मयार नदी में गणेश प्रतिमा का विसर्जन करने गुरुवार की शाम बलियरी गये दो युवकों की जल समाधि होने खबर मिलते ही सीएसपी व अन्य पुलिस तथा गोताखोरों की टीम शव की तलाश में जुटे रहे। देर शाम तक एक युवक का शव मिल पाया जबकि काफी रात तक दूसरे की तलाश जारी रही। 

एनसीएल निगाही परियोजना क्षेत्र के एमपीईबी कॉलोनी निवासी पवन सिंह पिता अवधराज सिंह (25) एवं हृदयेश सिंह पिता केपी सिंह (26) दोनों युवक गुरुवार को अपने रिश्तेदार बिलौंजी राजकुमार पटेल परिवार की महिलाएं गणेश की प्रतिमा को लेकर कोतवाली क्षेत्र बैढऩ के नजदीकी मयार नदी में विसर्जन करने गये थे। उक्त दोनों युवक भी साथ में चले गये और जैसे ही महिलाएं भगवान श्री गणेश प्रतिमा का विसर्जन कर वापस चलने लगीं कि दोनों युवक नदी में नहाने की मंशा जाहिर करने लगे। महिलाओं के मना करने के बाद भी नदी में दोनों ने छलांग लगा दी। इसी दौरान दोनों युवक बहने लगे जिन्हें मौजूद लोग बचाव के लिए कूद पड़े किसी तरह पवन सिंह को उफनते नदी से निकालने में सफल रहे किन्तु पवन की तब तक मौत हो चुकी थी वहीं हृदयेश का तेज बहाव में पता नहीं चल पाया।

घटना की जानकारी मिलते ही सीएसपी व अन्य पुलिस कर्मी तथा गोताखोर पहुंच गये। हृदयेश का देर रात तक पता नहीं चला। फिर भी पुलिस व गोताखोर लगातार हृदयेश का पता लगाने में जुटे रहे। टीआई कोतवाली बैढन अरुण पांडेय के अनुसार घटनास्थल मूर्ति विसर्जन के लिए अधिकृत नहीं था। निगाही के दो युवक मना करने पर भी नदी में तेज बहाव में छलांग लगा दिये। जहां पवन का शव बरामद हो गया है, दूसरे युवक की तलाश रात तक जारी थी।

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस