वाराणसी, जेएनएन। मुंगई में फ‍िल्‍म अभिनेत्री कंगना रनौत पर अपमानजनक टिप्पणी के खिलाफ भड़की भाजपा 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' प्रकल्प की महिला सदस्यों ने शिवसेना सांसद संजय राउत के खिलाफ मंगलवार को सिगरा थाने में तहरीर दी। महिला सदस्यों ने आरोपी के खिलाफ सुसंगत धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की। थाने में मौजूद दिवसाधिकारी ने तहरीर लेकर अग्रिम कार्रवाई का भरोसा दिलाया। वहीं इस मामले की चर्चा जिले भर में होती रही, जबकि खबर की सूचनाएं भी सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर साझा कर विवाद को लेकर अपने विचार रखे।

शिव सेना सांसद संजय राउत के खिलाफ सिगरा थाने में एफआईआर दर्ज कराने पहुंची 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' प्रकल्प की सदस्याओं ने जागरण से बातचीत में कहा कि कोई भी हो उसे महिला का सम्‍मान करने के साथ ही अपने पद की गरिमा को बरकरार रखना चाहिए। दुर्भाग्‍य से महाराष्‍ट्र में सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुंबई पुलिस की लापरवाही पर कमेंट करने वाली कंगना के खिलाफ राजनीतिक बयान बाजी दुर्भाग्‍यपूर्ण है। कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भाजपा से जुड़ी महिलाओं में शिवसेना नेता के बयान के बाद आक्रोश की स्थिति है। इसी वजह से मंगलवार को महिलाओं की टोली शिवसेना नेता के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराते हुए आवश्‍यक कार्रवाई की मांग की है।

मंगलवार की सुबह शिकायत करने सिगरा थाने पहुंची 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' प्रकल्प की प्रदेश संयोजक डॉ. रचना अग्रवाल ने कहा कि संजय राउत ने बयान देते हुए सांसद के सम्मान जनक पद की गरिमा का भी ख्याल नहीं रखा। कंगना रनौत पर अभद्र टिप्पणी के साथ ही साथ उसे जान से मारने की धमकी भी दी है। यह नारी शक्ति का भी अपमान है। महिलाओं ने शिकायती पत्र लेने के बाद जागरण से थाने के दिवसाधिकारी ने बताया कि मामले से अधिकारियों को अवगत करा कर संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर आवश्‍यक कार्रवाई की जाएगी। इस मौके पर लता अग्रवाल, प्रीति पुरोहित, रत्ना वर्मा, प्रीति जायसवाल, रेशमा साधवानी इत्यादि उपस्थित थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस