वाराणसी, जागरण संवाददाता। बड़ागांव थाना क्षेत्र के अमवार गांव में बुधवार की सुबह एक दीवार गिरने से उसमें दबकर वृद्धा की मौत हो गई, जबकि एक बच्ची किसी तरह बच गयी। हादसा होने के बाद परिवार में कोहराम मचा हुआ है। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने परिवार को उचित मदद का आश्वासन दिया है। वहीं हादसे के बाद गांव में मातम की स्थिति बनी हुई है। गांव वालों के अनुसार कई दिनों से रह रहकर हो रही बरसात की वजह से मकानों में नमी की स्थिति बनी हुई है। नमी होने की वजह से ही दीवार काफी कमजोर थी जो सुबह अचानक भरभराकर गिर पड़ी। 

परिजनों के अनुसार अमावर गांव निवासी वृद्ध महिला सुदामा देवी (68) पत्नी स्व. खड़भन कन्नौजिया बुधवार को अपने पुराने घर से नए घर आ रहे थे। उनके साथ उनकी नतिनी तान्या (12) भी साथ में थी। वह अपने घर के समीप पहुंची थी। उसी समय घर के समीप ही सड़क के किनारे बने स्व. लालजी गुप्ता के मकान की दीवार उनके ऊपर गिर गई। जबकि तान्या उनके आगे चल रही थी, जो बच गयी। दीवार गिरने की तेज आवाज और बच्चों द्वारा शोर मचाने की आवाज सुनकर आसपास के लोग तत्काल मौके पर पहुंचे तो पता चला कि वे उस में दबी हुई हैं।

आनन फानन लोग भाग दौड़ कर वहां तत्काल मौके पर पहुंचे और ईंट हटाकर उनको गिरी हुई दीवार से बाहर निकाले। बाहर निकालने के बाद जबतक लोग उनको अस्पताल लेकर जाते तब तक उनकी मौत हो गयी। घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर साक्षी राय, नायब तहसीलदार पिंडरा और चौकी प्रभारी हरहुआ हरिकेश सिंह मौके पर पहुंचे। इस दौरान मृतका के बेटों ने किसी प्रकार की कार्रवाई और पीएम करवाने से इनकार कर दिया, जिससे पंचनामा करवाकर मृतका का शव परिजनों को सौंप दिया गया।

Edited By: Abhishek Sharma