वाराणसी, जेएनएन। गांव से शहर तक डेंगू के प्रसार से सकते में आया स्वास्थ्य विभाग मंगलवार को सड़कों- गलियों में मच्छरों के पीछे दौड़ता नजर आया। सड़कों-गलियों में डेंगू मच्छरों के लार्वा पनपने के स्थान तलाशे। जलजमाव वाले स्थानों पर लार्वारोधी छिड़काव कराया तो घरों में भी स्रोत नष्ट किए। दैनिक जागरण ने मंगलवार के अंक में पेज संख्या नौ पर डेंगू के निशाने पर शहर, वरुणापार में कहर शीर्षक से अनियंत्रित हो रही स्थिति की ओर ध्यान दिलाया था। इसे पढ़ने के बाद अफसरों को गंभीरता का भान हुआ और मैदान में उतर आए।

सीएमओ डा. वीबी सिंह के नेतृत्व में डेंगू केस वाले इलाकों में एक-एक कर निरोधात्मक कार्रवाई शुरू की गई। ज्यादातर डेंगू मरीज वाले इलाके यथा शिवपुर, पांडेयपुर, खजुरी, पहड़िया समेत वरुणापार के विभिन्न इलाकों और नगवा-सामने घाट तक पीड़ितों के घरों और आसपास लार्वा रोधी छिड़काव और फागिंग कराई गई। लोगों को इससे बचाव और एहतियात के बारे में भी जानकारी दी गई। इससे पहले सीएमओ ने अफसरों को चेतावनी के अंदाज में तत्परता और सक्रियता के निर्देश दिए।

कहा जहां कहीं भी डेंगू के मरीज मिलें, तत्काल निरोधक कार्रवाई की जाए। जलजमाव वाले स्थलों के बारे में संबंधित विभागों को सूचित करते हुए लार्वारोधी छिड़काव और लोगों को सचेत किया जाए। अस्पतालों व स्वास्थ्य केंद्रों पर मरीजों को बचाव व लक्षण के बारे में जानकारी दी जाए। उन्हें बताया जाए कि बीएचयू व मंडलीय समेत सभी राजकीय अस्पतालों व स्वास्थ्य केंद्रों पर डेंगू के निश्शुल्क जांच व इलाज की व्यवस्था है। सीएमओ के साथ निकली टीम में संचारी रोग नोडल अधिकारी एसीएमओ डा. एसएस कनौजिया, एसीएमओ डा. पुनीत, सहायक जिला मलेरिया अधिकारी केके राय समेत कर्मचारी व अधिकारी थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस