मीरजापुर [प्रशांत यादव]। बिजली का बिल जमा कराने की जिम्मेदारी अब कोटेदारों को भी दी गई है। साथ ही जन सुविधा केंद्रों पर भी बिजली के बिल जमा किए जा सकेंगे। इसके लिए मीरजापुर, सोनभद्र, भदोही, जौनपुर, मऊ, गाजीपुर, चंदौली, आजमगढ़ आदि जिलों में विद्युत बिलों को जमा कराने के लिए शासन ने नया तरीका अपनाया है। इसके लिए बाकायदा प्रशिक्षण दिया गया है। इसके लिए उन्हें मशीन दी गई है जिसमें विद्युत कनेक्शन नंबर डालते ही प्रत्येक महीने का बिल निकल आएगा। इसके आधार पर बिल जमा कराने के बाद उन्हें रसीद भी देंगे। इसके लिए उन्हें 20 रुपये प्रति उपभोक्ता कमीशन मिलेगा।

गांव-गांव, शहर-शहर बिजली के बिल जमा कराने के नाम से शुरू की गई इस योजना से अब उपभोक्ताओं को बिजली का बिल जमा करने के लिए विद्युत उपकेंद्र नहीं जाना पड़ेगा और न ही घंटों लाइन में खड़े होने की जरूरत होगी। वे अपने गांव में ही खुले जन सुविधा केंद्र या कोटेदार के यहां पहुंचकर बकाए बिल को जमा कर लेंगे। इसके लिए बस उनको अपना विद्युत कनेक्शन नंबर कोटेदार को बताना होगा। इसके बाद कोटेदार विभाग की ओर से दी गई इलेक्ट्रानिक मशीन के माध्यम से उपभोक्ता का बिल निकालकर दे देगा। आए हुए बिल को उपभोक्ता वहीं पर जमा कर ङ्क्षचताओं से मुक्त हो जाएगा। योजना के संचालन के लिए विद्युत विभाग की ओर से पूर्वाचल के लिए जिलों में एक लाख से अधिक कोटेदार व जन सुविधा केंद्र को हायर किया गया है। यही नहीं, बिल जमा करने के लिए उनको बाकायदा प्रशिक्षित भी किया गया है। विंध्याचल मंडल के जोन में 3200 कोटेदार व लगभग डेढ़ हजार जन सुविधा केंद्र से करार किया गया है। इसमें मीरजापुर में 1264, सोनभद्र 967 व भदोही में 973 कोटेदार लगाए जाएंगे। इसी प्रकार सोनभद्र में 78, मीरजापुर में 110 व भदोही में 72 जनसुविधा केंद्र खोले जा रहे हैं।

ये होगा फायदा

विद्युत विभाग की ओर से कोटेदारों और जन सुविधा केंद्र के तहत बिजली के बिलों को जमा करने की पहल से विभाग को काफी फायदा होगा। विभाग पर बिल वसूलने का बोझ कम हो जाएगा और हर महीने बिजली के बिल के बढ़ते बोझ में कमी आएगी। साथ ही उपभोक्तओं को काफी सहूलित मिलेगी।

46 करोड़ की वसूले गए बिल

इस वर्ष विंध्याचल मंडल के जोन में 76 करोड़ रुपये बकाए बिजली का बिल वसूलने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। महज 46 करोड़ रुपये ही बकाए बिल वसूले जा सके जिस पर शासन ने संतोष जाहिर किया है। कहा कि लॉकडाउन में भी इतना बकाया बिल वसूला जाना बड़ी बात है।

अब बकाए बिल को जन सुविधा केंद्र और कोटेदार के द्वारा भी जमा कराया जाएगा

अब बकाए बिल को जन सुविधा केंद्र और कोटेदार के द्वारा भी जमा कराया जाएगा। इसके लिए उन्हें प्रशिक्षित कर दिया गया है। बिल जमा कराने के लिए इलेक्ट्रानिक मशीन भी दे दी गई है।

- आरके श्रीवास्तव, मुख्य अभियंता पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम विंध्याचल रेंज।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस