बलिया, जेएनएन। सबका साथ, सबका विकास के नारे को चरितार्थ करने में अधिकारियों का भ्रष्टाचार आड़े आ रहा है। स्थानीय स्तर पर कुछ भ्रष्ट अधिकारी कर्मचारी अपने निहित स्वार्थ के लिए सरकार की छवि बिगाड़ने में लगे हुए हैं। हमारे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा ऐसे लोगों को चिन्हित करके कार्रवाई करने का कार्य शुरू किया है, इसे तत्काल ठीक कर लिया जाएगा। यह उद्गार विधायक सुरेंद्र सिंह के हैं, जो अपने सरकार के तीन साल पूरा होने के बाद चांदपुर स्थित अपने आवास पर पत्रकारों के समक्ष अपनी उपलब्धियों को गिना रहे थे।

विधायक ने स्पष्ट किया कि 50 करोड़ की लागत से आधा दर्जन से अधिक सड़कों का नवनिर्माण, लगभग 60 करोड़ की लागत से पुरानी सड़कों का पुनर्निर्माण कराया गया है। वहीं सात करोड़ की लागत से आधा दर्जन पुलों का निर्माण कराया गया है। 19 करोड़ की लागत से दयाछपरा में राजकीय पालिटेक्निक, साढ़े सात करोड़ की लागत से सोनबरसा में राजकीय महाविद्यालय, डेढ़ करोड़ की लागत से गंगा उस पार नौरंगा में राजकीय इंटर कालेज के निर्माण की स्वीकृति के साथ ही इस सबों के लिए प्रथम किस्त जारी हो गया है। सोनबरसा में 100 बेड का अस्पताल के अलावा 453 बेटियों की शादी मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में शानदार तरीके से करके मेरे द्वारा उनका कन्यादान करना और जन सहयोग से उचित सौगात के साथ उनकी विदाई अभूतपूर्व है।

विधायक ने कहा कि अपने विधायक निधि से 75 लाख रुपये मैंने गरीबों के इलाज के लिए दिया है, जो एक रिकार्ड है। मेरा प्रयास रहा है कि अधिकतम लोगों को संतुष्ट रखा जाय, इसमें मैं कितना सफल हूं या असफल, यह तो जनता ही तय करेगी। उन्होंने जोर देकर कहा कि अगर कोई किसान अपने खेत से मिट्टी काटकर उसे ट्रैक्टर पर लादकर अपने घर ले जा रहा हो और उसे किसी ने रोका तो हमसे बुरा कोई नहीं होगा। इस संदर्भ में मैंने जिलाधिकारी को भी बता दिया है और मुख्यमंत्री को भी लिखित रूप से इसकी जानकारी दे दी है।

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस