बलिया, जेएनएन। देश ही नही दुनिया को झकझोरने वाले बहुचर्चित निर्भया के गांव में ग्रामीणों की तरफ से चिकित्सालय में डाक्टर व स्टाफ की तैनाती की मांग को लेकर आंदोलन गुरुवार को भी जारी रहा। सीएमओ डा. पीके मिश्र की ओर से निर्भया पर की गई टिप्पणी से आहत उसके बाबा ने सीएमओ को बर्खास्त करने की मांग की। यह चेतावनी भी दी है कि अगर एक सप्ताह के अंदर सीएमओ को बर्खास्त नहीं किया गया तो वे आत्मदाह कर लेंगे। उनकी इस घोषणा से प्रशासनिक खेमे में खलबली मच गई है।  

धरना स्थल पर सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष संग्राम सिंह यादव पहुंचे। उन्होंने कहा कि धरना रत लोगों से अभद्रतापूर्वक बात करने वाले सीएमओ को बर्खास्त कराने के लिए सपा जिलाधिकारी का घेराव करेगी। वहीं धरनारत बहादुर बिटिया के बाबा ने कहा कि अगर इस संवेदनहीन अधिकारी को  एक सप्ताह के अंदर बर्खास्त नहीं किया गया तो इसी जगह पर आत्मदाह कर लूंगा। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की  बदहाली को लेकर ग्रामीणों ने रविवार से ही अस्पताल के गेट के पास शांतिपूर्वक धरना दिया जा रहा है।

धरनास्थल पर मंगलवार को पहुंचे सीएमओ की बात से लोगों में काफी आक्रोश बना हुआ है। धरना के पांचवें दिन भी लोग डटे रहे। डिप्टी सीएमओ राजनाथ ने धरना स्थल पर पहुंचकर लोगों को मनाने का प्रयास किया लेकिन ग्रामीणों का कहना है कि सीएमओ की बर्खास्तगी की जाए। इससे पहले कुछ भी स्वीकार्य नहीं है। इस मौके पर पूर्व जिला पंचायत सदस्य कुबेर नाथ तिवारी, प्रधान दुलारपुर संजय सिंह, अश्वनी कुमार पांडेय, बंशीधर राय, बृज बिहारी पटेल, सर्वजीत खरवार, आर्या पांडेय, दिव्या पांडेय, अविनाशी पटेल, पारस यादव आदि मौजूद थे।

ये हुआ था मामला

निर्भया के गांव में चल रहे उसके परिजनों व ग्रामीणों के धरना स्थल पर पहुंचे मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रीतम मिश्र का निर्भया को लेकर बेतुका बयान रहा। वीडियो में मुख्य चिकित्सा अधिकारी यह बोलते दिखाई दे रहे हैं कि निर्भया को दिल्ली क्यों भेजे। उनका यह भी कहना है कि निर्भया के गांव में किसी ने भी डॉक्टर की पढ़ाई तो की नहीं और यहां के लोगों को डॉक्टर चाहिए। पहले डॉक्टर की पढ़ाई करें फिर इसी अस्पताल में डॉक्टर तैनात कराएं इस गांव में डॉक्टर तो बनाया नहीं तो अस्पताल क्यों खुलवाया। हम कहां से डॉक्टर लाएं, जितने पद हैं उतने डॉक्टर हैं नहीं। निर्भया के दादा ने भी मुख्य चिकित्सा अधिकारी पर निर्भया को लेकर बेतुका बयानबाजी करने व बदसलूकी का आरोप लगाया है। जिलाधिकारी हरि प्रताप शाही ने इस मामले की जांच के आदेश भी दिए हैं।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस