वाराणसी, जागरण संवाददाता। देश के 73वें गणतंत्र दिवस पर 11 एनडीआरएफ वाराणसी ने अपने वाहिनीं मुख्यालय परिसर में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस उपलक्ष्य पर 11 एनडीआरएफ के डॉ पंकज गौरव, उप कमांडेंट (चिकित्सा अधिकारी), निरीक्षक राहुल कुमार, सहायक उपनिरीक्षक होशियार सिंह, मुख्य आरक्षी एस मनी मोहन सिंह सहित वाहिनीं के अन्य रेस्क्यूअर्स को विभिन्न प्रकार की आपदाओं में उत्कृष्ट राहत एवं बचाव कार्य करने के लिए महानिदेशक मेडल एवं प्रशंसा पत्र तथा महानिरीक्षक प्रशंसा पत्र से सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर मनोज कुमार शर्मा, कमांडेंट, 11 एनडीआरएफ ने बल के कार्मिकों को शुभकामनाएं देते हुए अपने संबोधन मे कहा कि “ देश के गौरवान्वित कर देने वाले इतिहास में कई लोगों ने अपने प्राण न्योछावर करते हुए हमें एक गणतंत्र राज्य दिया है और इसे साफ़-सुथरा और सुरक्षित रखना हमारा परम कर्त्तव्य है। 11 एनडीआरएफ ने उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में आई आपदाओं में कोरोना माहमारी के नियमों का पालन करते हुए अपनी कुशलता और सेवा भावना से लाखों लोगों के जीवन की रक्षा की है। एनडीआरएफ अपने ध्येय वाक्य “आपदा सेवा सदैव सर्वत्र” को सार्थक करते हुए किसी भी प्रकार की आपदा में लोगों की सुरक्षा के लिए तत्पर है। इस अवसर पर मैं बल के सभी कार्मिकों और उनके परिवारजनों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें देता हूँ और उनके उज्वल भविष्य की कामना करता हूं।”

कमांडेंट महोदय ने काशी वासियों को भी इस पर्व की हार्दिक शुभकामनायें देते हुए सबसे अपील की है कि आपदाओं के प्रति हमेशा जागरूक रहें, सतर्क रहें जिससे किसी भी आपात स्थिति से आसानी से निपटा जा सके और जीवन को सुरक्षित किया जा सके। कार्यक्रम के अंत में एनडीआरएफ के जय उद्घोष “एनडीआरएफ का एक ही मंत्र आपदा सेवा सदैव सर्वत्र” के साथ कार्यक्रम को सम्पन्न किया गया।

Edited By: Saurabh Chakravarty