वाराणसी, जेएनएन। गंगापुर में गत दिनों कोरोनावायरस से व्‍यक्ति की मौके के उनके दो परिवारजन का टेस्ट पॉजिटिव आया है। इसमें एक मृतक की 52 वर्षीय पत्नी और 26 वर्षीय पुत्रवधु हैं। दोनों सास बहू को पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय अस्‍पताल में आइसोलेशन के लिए लाया जा रहा है। मृतक और उनका पुत्र दोनों एक दिन के लिए कोलकाता गए थे। पुत्र के खांसी हुई थी जो ठीक हो गई। उसका टेस्ट नेगेटिव आया है।

मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के दो नए मामले सामने आए हैं। गंगापुर के कोरोना पॉजिटिव मृतक कारोबारी की पत्नी व पुत्रवधू की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सास-बहू को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि मदनपुरा और लोहता के पॉजिटिव मरीजों के परिवारीजनों की सारी रिपोर्ट निगेटिव आई है। मदनपुरा में एक सैंपल सही नहीं आया था, इसलिए दोबारा सैंपल लिया जाएगा। वहीं बजरडीहा के लोगों की रिपोर्ट आनी बाकी है। गंगापुर से दो नए केस मिलने के बाद वहां सीलिंग की अवधि अभी लंबी चलेगी। जनपद में अब कुल नौ पॉजिटिव केस हो गए हैं। एक की मौत हो चुकी है, जबकि दो पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव हो जाने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। वहीं कुछ छह मरीजों का इलाज चल रहा है। इनमें गंगापुर की सास-बहू, मदनपुरा व कर्नाटक का एक-एक जमाती, मुरादाबाद मदरसे से लौटा लोहता का एक युवक व उमरा से लौटी बजरडीहा की एक महिला शामिल हैं।

गंगापुर के रहने वाले एक 55 वर्ष के कारोबारी 15 मार्च को कोलकाता से लौटे थे

गंगापुर के रहने वाले एक 55 वर्ष के कारोबारी 15 मार्च को कोलकाता से लौटे थे। चिकित्सकों के अनुसार 27 मार्च को इन्हें जुकाम आदि की समस्या हुई थी। इन्होंने दो जगहों पर अपना प्राइवेट इलाज कराया। कोरोना की आशंका होने पर दो अप्रैल को प्राइवेट डॉक्टर ने BHU में दिखाने को कहा। इसके बाद उन्हें सीधे ICU भेजा गया। तीन अप्रैल को इनकी मृत्यु हो गई। चिकित्सकों के अनुसार इनको पूर्व से डायबिटीज थी। बीपी औए डायबिटीज का इलाज कई साल से चल रहा था। BHU में इनका ब्लड प्रेशर भी काफी ज्यादा रहा। अस्पताल के आईसीयू में इलाज का पूरा प्रयास किया गया। इनका सैंपल BHU के द्वारा लिया गया। सैंपल ठीक नहीं आया तो दोबारा लिया गया था। चार अप्रैल को मृत्यु के बाद सैंपल उनका पॉजिटिव आया है।

जानकारी के अनुसार इनके घर में 10 लोग हैं। गंगापुर में इनका वार्ड और अन्य एरिया सील है। बनारस के गंगापुर में कोरोना से पहली मौत कन्फर्म होने के बाद चिंता इस बात की भी है कि संक्रमण कहीं और न फैला हो। एक दिन पूर्व मौत होने के बाद रिपोर्ट कन्फर्म होने के बाद अब आधिकारिक रूप से इसे पहली मौत माना जा रहा है। जबकि पूर्व में यह मौत कोरोना की वजह से नहीं मानी गई थी। मृतक किनसे सम्पर्क में था और कहां इससे पूर्व इलाज कराया इसकी भी जानकारी हासिल कर सभी को आइसोलेट किये जाने की तैयारी प्रशासनिक स्तर पर हुई है। इसके बाद ही सास-बहू का मामला सामने आया है।

मंडुवाडीह में जो चिकित्सक गंगापुर के कोरोना से पीड़ित मृतक का इलाज कर रहे थे उन्हें होम क्वारंटाइन के लिए निर्देश दिए गए हैं। उनका भी कोरोना वायरस टेस्ट कराया जाएगा, इस दौरान कौन अन्य मरीज उनके सम्पर्क में आया है इसकी भी पड़ताल की जा रही है।

इलाज करने वाला डाक्टर होम क्वारंटाइन

जिला प्रशासन ने मंगलवार को मंडुआडीह के चिकित्सक को होम क्वारंटाइन का निर्देश दिया।  गंगापुर के मृतक कोरोना मरीज के परिजन बीएचयू ले जाने से पहले उसे यहीं लाए थे और डाक्टर ने उसका इलाज भी किया था। डाक्टर की मुकम्मल जांच बुधवार को कराई जाएगी। उधर, गुरुधाम स्थित निजी हास्पिटल की मांग पर उनके यहां आइसीयू में भर्ती एक मरीज का टेस्ट कराया गया था, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस