वाराणसी, जागरण संवाददाता। मौसम विभाग के अनुमानों के अनुसार मानसून पूर्वांचल में लगभग सप्‍ताह भर देरी से सक्रिय हुआ है। हालांकि, मानसून आने के साथ ही बादलों की सक्रियता से दिन भर बादलों की आवाजाही के साथ ही बूंदाबांदी का भी क्रम जारी है। बारिश होने की वजह से तापमान में भी काफी कमी आई है। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में भी मानसून सक्रिय रहा तो बूंदाबांदी का क्रम लोगों को गर्मी से राहत देगा। इसकी वजह से पूर्वांचल में गर्मियों से राहत लोगों को मिलना तय है। इस पूरे सप्‍ताह मानसूनी बारिश का संकेत मौसम विभाग ने दिया है। 

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 30.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से छह डिग्री कम रहा। न्‍यूनतम पारा 24.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से तीन डिग्री कम रहा। आर्द्रता अधिकतम 95 फीसद और न्‍यूनतम 84 फीसद दर्ज की गई। बुधवार की शाम तक 65 मिमी तक बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार पूर्वांचल में बादलों की सक्रियता का रुख बना हुआ है। इसकी वजह से तापमान में भी कमी आई है। हालांकि, धूप होने के बाद गर्मी और उमस का दौर भी हो रहा है। मौसम विभाग ने पूरे सप्‍ताह मानसूनी सक्रियता का अंदेशा जताया है।

मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि इस पूरे सप्‍ताह आने वाले दिनो में मानसूनी सक्रियता का रुख लोगों को राहत देगा। फ‍िलहाल मार्च माह से पारा सामान्‍य से अधिक होने की वजह से गर्मियों का दौर लोगों को सेहत संबंधी चुनौती दे रहा था। अब मौसम का रुख गर्मियों में राहत देने की ओर है। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में मानसूनी सक्रियता का दौर लोगों को राहत देगा। इसके साथ ही पखवारे भर के बाद सावन मास की शुरुआत हो जाएगी और मौसम का रुख और बेहतर हो जाएगा। 

Edited By: Abhishek Sharma