वाराणसी, जागरण संवाददाता। वाराणसी में जाली पहचान पत्र बनाकर डुप्लीकेट सिम लेने जा रहे दो जालसाजों को संदिग्ध होने की दशा में वाराणसी में बीएसएनएल के एसडीओ ने पुलिस के हवाले कर किया। इस बाबत एसडीओ अमित त्रिपाठी ने बताया कि सुबह दो व्यक्ति मेरे कार्यालय में आये और बताया कि बीएसएनएल के एक मोबाइल नंबर का सिम जो डाक्टर संजय कुमार पुत्र देवेंद्र प्रसाद पता 2 बी/6 अलीगंज चादगंज गार्डन रोड लखनऊ उत्तर प्रदेश के नाम पर जारी हुआ है वह कहीं खो गया है। उसके बदले उनको दूसरा सिम दिया जाये। जिस पर दुबारा सिम जारी करने की प्रक्रिया के तहत उन दोनों से पहचान पत्र के रूप में उनकी आइडी की मांग की गयी।

इसमें से एक ने अपना नाम समीर आर्य पुत्र नागेश्वर प्रसाद पता बोरिंग कैनाल रोड पटना बिहार बताया एवं दूसरे ने अपना नाम डक्टर संजय कुमार पुत्र देवेंद्र प्रसाद पता अलीगंज चादराज गार्डन रोड लखनऊ उत्तर प्रदेश बताया। वहीं संजय ने अपने पहचान पत्र के रूप में आधार कार्ड दिया। जिसको सिस्टम में चेक किया गया तो नाम एवं पता सही पाया गया। परन्तु फोटो भिन्न होने से उनको शंका हुई। शंका होने के बाद डिमांड किए गए मोबाइल नंबर  पर फोन किया गया। जिस पर स्वयं डक्टर संजय कुमार से बात हुई। उन्होंने बताया गया की मेरा सिम मेरे पास ही है। मैंने किसी को भी डुप्लीकेट सिम के लिए कार्यालय नहीं भेजा है। जिससे सिम लेने आये दोनो उक्त व्यक्ति संदिग्ध प्रतीत होने पर पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया।

पुलिस के अनुसार उनकी तलाशी ली गई जिससे उनके पास विभिन्न आइडी पायी गयी। पाए गए पहचान पत्र कूटरचित पाए गए। पुलिस द्वारा पकड़े गए दोनों उपरोक्त व्यक्तियों को थाना पर लाया गया। फिलहाल कैन्ट पुलिस ने उनके खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस के अनुसार उनकी मंशा क्‍या थी इसकी जांच की जा रही है। 

Edited By: Abhishek Sharma