बलिया, जेएनएन। अपने विवादास्‍पद बयानों के लिए चर्चा मे रहने वाले बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक बार फ‍िर से हाथरस कांड के बहाने से विवाद को हवा दी है। शनिवार को जागरण से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि हाथरस में मारपीट और हत्या हुई है दुष्‍कर्म नहीं। बताया कि फोरेंसिंक जांच के दौरान इसकी पुष्टि लैब और पोस्टमार्टम से हो गयी है, युवती के साथ मारपीट हुई है, हत्या हुई है ऐसी घटना की निंदा होनी चाहिए, दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई भी होनी चाहिए।

विधायक सुरेन्द्र सिंह शनिवार को पत्रकारों के साथ चांदपुर में बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दलित उत्पीड़न और महिला यौन उत्पीड़न का किसी पर भी फर्जी आरोप लगाकर उसका जीवन नर्क किया जा सकता है। किंतु समाज की समरसता के लिए यह कतई उचित नहीं है। विधायक ने कहा कि अगर सरकार तलवार लेकर खड़ी रहे तब भी दुष्‍कर्म की घटनाएं नही रुकेगी। दुष्‍कर्म रुकेगा तो माता-पिता द्वारा अपने बेटे-बेटियों को संस्कार देने से, माता-पिता संस्कार दे सरकार सुरक्षा दे। हाथरस कांड का विरोध कर रहे सपा, बसपा व कांग्रेस पर निशाना साधते हुए विधायक ने कहा कि ये लोग अपने राजनैतिक फायदे के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि दलित को या ब्राह्मण हो सबकी बेटी बेटी ही होती है सबको सुरक्षा व संरक्षा मिलनी चाहिए किन्तु विपक्षी पार्टी अपने फायदे के लिए दलित की बेटी कहकर समाज को बांटने में लगे हुए हैं। राहुल गांधी व प्रियंका गांधी दोनों भाई बहन होटल बोतल के संस्कार वाले है, ये लाख कोशिश कर ले उत्तर प्रदेश की जमीन पर कांग्रेस स्थापित होने वाली नही है।

आशा व संगिनियों ने विधायक को सौंपा पंद्रह सूत्रीय ज्ञापन

आशा एवं संगिनियों के आजमगढ़ मण्डल अध्यक्ष अर्चना सिंह के नेतृत्व में शनिवार को आशा एवं संगिनियों ने विधायक सुरेन्द्र सिंह के आवास पर जाकर पंद्रह सूत्री मांगों का ज्ञापन सौंपा। वहीं विधायक से आग्रह किया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर हम लोगों की मांगों को स्वीकार कर लेने के लिए राजी करें। विधायक ने आशा व संगिनियों को आश्वस्त किया मुख्यमंत्री से मिलकर आप लोगों का पत्रक उनके सामने रखूंगा और उसे स्वीकार कर लेने का आग्रह करूंगा। पत्रक देने वालों में अर्चना सिंह के अलावा अनिता वर्मा, गीता चौरसिया, देवकुमारी देवी, प्रतिभा देवी सहित दर्जनभर आशा व संगिनी सामिल थी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021