भदोही, जेएनएन। बाहुबली विधायक विजय मिश्र के खिलाफ लूट, हत्या सहित अन्य संगीन धाराओं में 77 मुकदमा भले ही दर्ज किया गया था लेकिन उसमें दुराचार की धारा नहीं थी। रविवार को उनके आपराधिक फेहरिस्त में सामूहिक दुष्कर्म का भी नाम दर्ज हो गया। आरोप है कि विधायक वाराणसी की गायिका से वीडियो कॉलिंग पर अश्लील हरकत करते थे। पीड़िता ने पुलिस को वीडियो क्लीप, वॉट्सऐप चैटिंग और स्क्रीनशॉट आदि भी उपलब्ध कराई है। जिसे पुलिस चार्जशीट में शामिल करते हुए कोर्ट में पेश करने की योजना बना रही है।

विधानसभा चुनाव के बाद विधायक विजय मिश्र ने सत्ता के करीब पहुंचने की पूरी कोशिश की। राज्यसभा चुनाव में भाजपा के समर्थित प्रत्याशी को वोट देने के साथ लोकसभा चुनाव में खुले मंच से समर्थन का ऐलान किया था। सत्ता परिवर्तन के करीब तीन साल तक वह सुकून से रहे, लेकिन औराई के एक व्यापारी से रंगदारी मांगने के आरोप में हुई गुंडा एक्ट की कार्रवाई ने उनकी आपराधिक कुंडली दोबारा खोल दी। गुंडा एक्ट की कार्रवाई होने के पीछे उन्होंने ठाकुर माफिया का हाथ बताया था। अभी यह मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था उनके रिश्तेदार कृष्णमोहन तिवारी ने भवन और फर्म हड़पने का मुकदमा दर्ज करा दिया। पुलिस ने उन्हें मध्य प्रदेश के आगर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसके बाद उनके खिलाफ कई मुकदमे दर्ज किए गए। कौलापुर के प्रधान उषा मिश्रा ने भी लेटरपैड का दुरुपयोग करने के आरोप में जालसाजी का मुकदमा दर्ज कराया है। विधायक की पत्नी एमएलसी रामलली मिश्र को सशर्त जमानत मिल गई है, जबकि विष्णु मिश्र फरार चल रहे हैं। वाराणसी की एक सिंगर ने अब सामूहिक दुष्कर्म के आरोप में मुकदमा दर्ज कर विधायक और उनके कुनबे की मुसीबत बढ़ा दी है।

चार आदमियों को भेजकर उठा लाए थे बाहुबली

गायिका ने आरोप लगाया कि मानसिक रूप से प्रताडि़त होने के बाद वह वर्ष 2016 में मुंबई शिफ्ट हो गई थी। विजय मिश्रा चार आदमियों को भेजकर उसे उठा लाए थे। इस दौरान  उनके आदमियों ने मोबाइल फोन से बात कराया। विधायक ने वीडियोकॉल करने की धमकी दी थी।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस