वाराणसी : राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी ने शुक्रवार रवींद्रपुरी कालोनी स्थित प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय में जनसुनवाई की। इस दौरान काफी फरियादी अपनी - अपनी समस्याओं को लेकर कार्यालय पहुंचे थे। डाफी के रहने वाले विजय बहादुर तिवारी कई स्थानीय लोगों के साथ पहुंच कर बिजली का पोल और ट्रासफार्मर लगवा कर बिजली आपूर्ति शुरू करवाने की माग की। ग्रामीणों का आरोप है कि किसी तरह बांस और बल्ली गाड़ कर बिजली जलाने पर हम लोग मजबूर हैं। जबकि बिल हर महीने दिया जाता है। कहा कि ग्राम प्रधान से भी कहने पर फरियाद अनसुना कर देते हैं। इस पर मंत्री ने बिजली विभाग के एमडी को फोन कर तत्काल मौके पर जाकर देख समस्या का हल करने का निर्देश दिया।

गाजीपुर के बहरिया बाद के रहने वाले हिमाशु गुप्ता ने निजी अस्पताल में सर्जिकल उपकरण का भुगतान न होने की शिकायत पर मंत्री ने गाजीपुर के जिलाधिकारी को फोन कर समस्या का समाधान कराने का निर्देश दिया।

शिव रतन पुर बजरडीहा के रहने वाले जगदम्बा प्रसाद ने उत्तर प्रदेश वितीय निगम में समायोजित करने हेतु आवेदन दिया। हबीब पुरा के रहने वाले वसीम अहमद ने हार्ट के ऑपरेशन करवाने हेतु गुहार लगाया।

काजीपुरा के रहने वाले कैंसर से पीड़ित शमशाद अहमद ने इलाज करवाने के लिए धन राशि की माग किया। वहीं कार्यालय में अन्य फरियादियों ने भी आवेदन दिए जिसे कार्यालय से संबंधित विभागीय अधिकारियों को निस्तारण के लिए अग्रेषित कर दिया गया। कार्यालय में अधिकतर मामले नागरिक सुविधाओं व जमीनी विवाद के सामने आए। विभागीय अधिकारियों से राज्यमंत्री ने अपेक्षा की है कि वह नागरिक समस्याओं का हल प्राथमिकता के आधार पर करें।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप