वाराणसी, जागरण संवाददाता। पूर्वांचल में मौसम का रुख लगातार बदलाव की ओर बना हुआ है। आने वाले दिनों में मौसम का रुख राहत की ओर होगा लेकिन अगले तीन चार दिनों तक मौसम का रुख काफी चुनौतीपूर्ण बना रहने की पूरी उम्‍मीद है। पश्चिमी विक्षोभ के असर से बादलों की सक्रियता का क्रम बना हुआ है तो दूसरी ओर तापमान में इजाफा भी दो दिन से बादलों की वजह से हो रहा है। गलन का दौर खत्‍म हुआ है तो तापमान में उतार चढ़ाव लोगों को मौसमी बीमारियां भी खूब दे रहा है। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि पखवारे भर तक ठंडक का असर और रहेगा इसके बाद तापमान में इजाफा होने लगेगा।  

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 19.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से चार डिग्री कम रहा। न्‍यूनतम तापमान 14.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से पांच डिग्री अधिक रहा। आर्द्रता अधिकतम 86 और न्‍यूनतम 85 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों के अनुसार पूर्वांचल सहित उत्‍तर भारत में मौसम का रुख बदला हुआ है। आसमान में बादल भी है और कोहरे का असर भी बना हुआ है। माना जा रहा है कि मौसम का रुख अगले दो तीन दिनों तक ऐसे ही बना रह सकता है। तीस जनवरी तक मौसम का रुख और भी बेहतर हो जाने की उम्‍मीद मौसम विज्ञानी जता रहे हैं। 

बीते दिनों की अपेक्षा दो दिनों से तापमान में इजाफा इस बात का संकेत है कि बादलों की सक्रियता पूर्वांचल में बनी रह सकती है। इसकी वजह से तापमान में उतार चढ़ाव का रुख भी बना हुआ है। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि आने वाले दिनों में मौसम का रुख सामान्‍य हो जाएगा। हालांकि, पहाड़ों पर लगातार हो रही बर्फबारी की वजह से ठंडक का असर उत्‍तर भारत सहित समूचे पूर्वांचल में नजर आ रहा है। 

Edited By: Abhishek Sharma