वाराणसी, जेएनएन। चांदपुर इंटर कालेज के समीप एक पोखरा में रविवार सुबह दो वर्षीय बालक आयुष का शव मिलने से हड़कंप मच गया। पुलिस  उसकी मां सरिता को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि मां की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। वह बार-बार अपना बयान बदल रही है। सरिता को गांव के ही लोगों ने रात में पोखरे के पास देखा था। ऐसा लग रहा है कि वह बच्चे के साथ खुदकशी के इरादे से निकली थी। बालक को तो पोखरा में फेंक दिया लेकिन खुद नहीं कूद सकी।

चोलापुर आयर निवासी सोनू राजभर की शादी 10 साल पहले मुस्तफाबाद की सरिता से हुई थी। 15 दिन पूर्व सोनू का पत्नी से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। क्षुब्ध सरिता अपने दो बच्चों आशीष व ज्योति को ससुराल में छोड़कर तीन बच्चों में सबसे छोटे आयुष को साथ लेकर मायके आ गई। 14 दिसंबर को आयुष के साथ सरिता मायके से भी लापता हो गई। तलाश के बाद परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। उधर, पत्नी और बच्चे के गायब होने की सूचना पर सोनू भी मुस्तफाबाद आ गया। इसी बीच चांदपुर में एक बच्चे का शव मिलने की सूचना पर सोनू वहां पहुंचा। शव देखते ही उसकी चीख निकल गई क्योंकि शव उसके बेटे आयुष का था। सरिता भी पोखरे के पास थी। पुलिस ने सरिता को हिरासत में लिया। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण मार्तंड सिंह ने बताया महिला का मानसिक संतुलन ठीक नहीं है। सोनू ने आयुष की मौत को लेकर तहरीर दी है। सरिता का चिकित्सकीय परीक्षण भी कराया जाएगा।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस