वाराणसी [अजय श्रीवास्‍तव] । महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में रविवार को छात्रसंघ चुनाव में मतदान को लेकर छात्रों  में जबरदस्त उत्साह रहा। हालांकि छात्रों के जोश व उमंग के आगे चुनाव आचार संहिता की हवा निकल गई है | इस दौरान प्रत्याशियों के समर्थक जमकर प्रिंटेड कार्ड, हैंडबिल व पैम्फलेट हवा में उड़ाते नजर आए। आलम यह है कि इंग्लिशिया लाइन से घंटी मिल चौराहे तक पूरा रोड पैम्फलेट से पट गया। छात्रसंघ के लिए मतदान सुबह आठ बजे से शुरु हुईं । अब तक 8839 मतदाताओं में से 1804 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इसमें 1281 छात्र व 523 छात्राएं शामिल हैं। इस प्रकार सुबह 11 बजे तक 20.43 फीसद मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके थे। प्रत्‍याशियों ने इस दौरान जमीन पर लोट पोट होकर छात्राें से उनकाे जिताने की अपील की।

विकास अध्यक्ष व दिग्वंत बने महामंत्री 

कड़ी सुरक्षा व गहमागहमी के बीच रविवार को महात्मा गाधी काशी विद्यापीठ के छात्रसंघ चुनाव में अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के विकास पटेल 2760 मत पाकर विजयी घोषित किए गए। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी समाजवादी छात्र सभा के अंबिका प्रसाद को 1634 मतों से पराजित किया। उपाध्यक्ष पद पर पवन कुमार यादव महामंत्री पद पर दिग्वंत पांडेय व पुस्ताकलय मंत्री पद पर रोशन कुमार राय निर्वाचित घोषित हुए हैं।

छात्रगुटों में झड़प, पथराव

काशी विद्यापीठ के छात्रसंघ चुनाव में मतदान के अंतिम दौर में विद्यार्थी परिषद व समाजवादी छात्रसभा के समर्थक आपस में दोपहर बाद भिड़ गए। इस दौरान छात्रों के दोनो गुटों में जमकर लात घूसे चले। वहीं कुछ शरारती तत्वों ने इस दौरान ईंट पत्थर भी चलाए। मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने उपद्रवियों को लाठी भांज कर खदेड़ दिया। इस दाैरान मारपीट होने से काफी देर तक गेट के पास हडकंप की स्थिति रही।

छात्रसंघ चुनाव को देखते हुए परिसर के साथ ही बाहर में भी सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं। विद्यापीठ रोड पर आवागमन पूरी तरह से बंद रहा। साथ ही आसपास की रोड पर बैरीकेडिंग की गई थी। इसके चलते कैंट स्टेशन आने-जाने वालों के साथ ही आसपास की लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा है। सुरक्षा के मद्देनजर परिसर और आसपास में बड़ी संख्या में पुलिस व पीएसी के जवान तैनात रहे। इन सबके बावजूद वोटिंग के दौरान प्रत्याशियो के समर्थकों का हुजूम विश्वविद्यालय के आसपास व मुख्य गेट पर नारेबाजी करता रहा। सुरक्षा कारणों से जिला व विश्वविद्यालय प्रशासन लगातार छात्रों की हर गतिविधि पर कड़ी नजर रखे हुए है। इसके लिए जगह- जगह सीसी कैमरे लगाए गए थे। इसके अलावा वीडियोग्राफी व फोटोग्राफी भी कराई जा रही थी।

वाहनों से ढोए जा रहे मतदाता

मतदान सुबह आठ बजे से शुरू हुई जो दोपहर दो बजे तक चलेगा। इस बीच दूर दराज के मतदाताओं को वाहनों से लाने का क्रम जारी है। बताया जाता है कि विभिन्न प्रत्याशियों  के समर्थकों ने मतदाताओं को घर से लाने व पहुंचाने के लिए बाकायदा वाहन लगा रखा है। यही नहीं इनके नाश्ते व भोजन का भी इंतजाम किया गया है। 

शाम पांच बजे तक परिणाम आने की संभावना

चुनाव में छात्रसंघ के अध्यक्ष समेत चार पदों के लिए 14 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इसके अलावा चार संकाय प्रतिनिधियों के 12 भी चुनाव लड़ रहे हैं। मतगणना दोपहर 3.30 बजे से शुरु होगी। इस प्रकार छात्रसंघ के कुल 26 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला शाम पांच बजे तक होने की संभावना है। परिणाम घोषित होते ही विजयी प्रत्याशियों को शपथ भी दिलाई जाएगी। 

छात्रसंघ के विभिन्न पदों पर  प्रत्याशी

अध्यक्ष पद पर (03) : अंबिका प्रसाद, विकास पटेल व विरेंद्र कुमार मौर्य।   

उपाध्यक्ष (04) : आशु कुमार वर्मा, पवन कुमार यादव, प्रीत सौरभ मिश्र, व राजन कुमार यादव। 

महामंत्री (02) : अंशु कुमार मिश्रा व दिग्वंत पांडेय।       

पुस्तकालय मंत्री (05) :  आकाश कुमार गुप्ता, अंकित कुमार बेनवंशी, राज किरण कुमार मौर्य, रोशन कुमार राय व विनय मौर्य।   

संकाय प्रतिनिधियों में

मानविकी : मंगल यादव व सरोज कुमार पांडेय।

समाज विज्ञान :  पंकज कुमार, पवन कुमार, राघवेंद्र विक्रम सिंह व रविकांत।

समाज कार्य : अमित जायसवाल, रोहित कुमार गिरी व सचिन वर्मा।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी  : अमन सिंह, गोलू प्रसाद सोनकर,  व उत्तम सिंह यादव।   

निर्विरोध निर्वाचन : वाणिज्य एवं प्रबंध शास्त्र प्रतिनिधि पद पर हर्ष कुमार सिंह, शिक्षा शास्त्र संकाय प्रतिनिधि ऋजु मिश्रा व विधि संकाय प्रतिनिधि पद पर अजीत कुमार सिंह।

Posted By: Abhishek Sharma