वाराणसी, जेएनएन। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के स्नातक, स्नातकोत्तर, व्यावसायिक, एमफिल, डिप्लोमा के विभिन्न पाठ्यक्रमों में दाखिले की जंग चार अक्टूबर से शुरू हो रही है। पहले दिन प्रथम पाली सुबह नौ से 11 बजे तक बीए की व द्वितीय पाली दोपहर तीन से शाम पांच बजे तक बीकाम की प्रवेश परीक्षा होगी। दोनों पाठ्यक्रमों में 11 हजार अभ्यर्थियों के लिए दस केंद्र बनाए गए हैं। शिक्षक-कर्मचारी व परीक्षार्थियों समेत सभी को मास्क पहनकर आना अनिवार्य होगा। वहीं अभ्यर्थियों को परीक्षा शुरू होने के 30 मिनट पहले बुलाया गया है ताकि थर्मल स्कैङ्क्षनग की जा सके।

स्नातक व स्नातकोत्तर के 62 पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए 31500 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। 29 पाठ्यक्रमों में सीट के सापेक्ष दोगुने से कम आवेदन आने के कारण मेरिट से दाखिला लेने का निर्णय लिया गया है। वहीं 37 पाठ्यक्रमों में आवेदकों की संख्या सीट के सापेक्ष कई गुना अधिक है। इन पाठ्यक्रमों में दाखिला परीक्षा के माध्यम से किया जाएगा। सर्वाधिक आवेदन बीए-बीकाम, बीएससी मैथ, एमकाम, विधि, एमएसडब्ल्यू सहित कई अन्य पाठ्यक्रमों में आए हैं।

कुलसचिव डा. एसएल मौर्य ने बताया कि इस बार प्रवेश परीक्षाएं चरणबद्ध तरीके से कराई जा रही हैं। बीए-एलएलबी की प्रवेश परीक्षा छह अक्टूबर को आयोजित की गई है। इसी प्रकार स्नातक के अन्य पाठ्यक्रमों की भी प्रवेश परीक्षाएं अलग-अलग तिथियों पर कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर परीक्षा से पहले  केंद्रों को सैनिटाइज कराने का निर्देश दिया गया है। थर्मल स्कैङ्क्षनग के बाद ही परीक्षार्थियों को कक्ष में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।

इन केंद्रों पर होंगी प्रवेश परीक्षाएं

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ मुख्य परिसर, गंगापुर परिसर, यूपी कालेज, हरिश्चंद्र पीजी कालेज, धीरेंद्र महिला पीजी कालेज (सुंदरपुर), जगतपुर पीजी कालेज, महादेव महाविद्यालय (बरियासनपुर), डा. घनश्याम ङ्क्षसह पीजी कालेज (सोयेपुर), जीवनदीप महाविद्यालय (बड़ालालपुर), मां सरस्वती महिला पीजी कालेज (चांदपुर)।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस