वाराणसी : काशी को एक और फ्लाईओवर की सौगात मिलने जा रही है। कज्जाकपुरा से सरैया तक लगभग दो किलोमीटर लंबा फ्लाईओवर बनेगा जिसमें एक अंडरपास व आरओबी भी शामिल होगा। कज्जाकपुरा रेलवे क्रासिंग पर प्रतिदिन लगने वाले भीषण जाम से लोगों को राहत मिलेगी। विधि-न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डा. नीलकंठ तिवारी ने जाम की लगातार शिकायतों को देखते हुए कज्जाकपुरा से सरैया तक फ्लाईओवर बनाने के लिए कमिश्नर दीपक अग्रवाल के साथ इलाके का पैदल निरीक्षण किया। इस दौरान राज्यमंत्री ने कज्जाकपुरा रेलवे क्रासिंग होते हुए सरैया मार्ग पर पड़ने वाले रेल ओवरब्रिज से लगभग 6 मीटर ऊपर से फ्लाईओवर को पास कराते हुए सरैया फोर लेन मार्ग पर उतारने पर जोर दिया। सेतु निगम के अभियंता को शीघ्र इस्टीमेट बनाकर शासन को भेजने का निर्देश देते हुए स्वीकृति सहित शीघ्र धनराशि अवमुक्त कराये जाने का भरोसा दिया।

राज्यमंत्री ने फ्लाईओवर को कज्जाकपुरा से सरैया मार्ग पर दो स्थानों पर रेलवे को समपार कराये जाने के कारण अपने हिस्से में होने वाले निर्माण के बाबत व्यय धनराशि उपलब्ध कराये जाने के साथ निर्माण कार्य के बाबत रेलवे से अनुमति प्राप्त किये जाने हेतु कमिश्नर को रेलवे के उच्चाधिकारियों से वार्ता करने हेतु कहा। राज्यमंत्री ने इस संबंध में अपने स्तर से रेल मंत्रालय से भी वार्ता की बात कही।

कज्जाकपुरा से सरैया तक पैदल निरीक्षण के दौरान आसपास के भी क्षतिग्रस्त मार्गो को शीघ्र मरम्मत कराने को कहा। राज्यमंत्री ने नगर निगम के क्षेत्रीय जेई को निर्देश दिया कि जिन सड़को को मरम्मत के लिए किसी न किसी योजना में शामिल किया गया हो, उसकी मरम्मत विधायक निधि से इस्टीमेट बनाने को कहा।

निर्माणाधीन सेतु का निरीक्षण -

राज्यमंत्री डा. नीलकंठ तिवारी ने कमिश्नर दीपक अग्रवाल के साथ 2621.15 लाख की लागत से 94.73 मीटर लंबे निर्माणाधीन वरुणा नदी- कोनियाघाट पर सेतु निर्माण कार्य का भी स्थलीय निरीक्षण किया। निर्माणाधीन सेतु मार्ग में सामानों को कार्यस्थल तक पहुंचाए जाने में मार्ग की समस्या के बाबत स्थानीय पार्षद विकास को कतिपय काश्तकारों से अस्थायी मार्ग के बाबत अपना भूखण्ड उपलब्ध कराये जाने हेतु वार्ता कर सहमति प्राप्त किये जाने का निर्देश दिया। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने भी निर्माण कार्य के दौरान सुरक्षा मानको का हर स्तर पर पालन करते कार्य में तेजी लाये जाने का निर्देश दिया।

साफ-सफाई में लापरवाही, कमिश्नर को जांच -

राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी ने कोनियाघाट-धोबीघाट मार्ग, कज्जाकपुरा एवं सोनकर बस्ती में सीवर चोक की समस्या पर गंगा प्रदूषण नियंत्रण के अभियंता को इस्टीमेट बनाने के साथ ही अवस्थापना निधि से धनराशि उपलब्ध कराये जाने कमिश्नर से कहा। पूर्वाचल विकास निधि से लगभग 50 लाख की लागत से 2013-14 में स्वीकृत कोनिया विजयीपुरा में सीवरेज एवं इण्टरलाकिंग निर्माण कार्य गन्ना विकास विभाग द्वारा अब तक नहीं कराये जाने की स्थानीय लोगों की शिकायत पर राज्यमंत्री ने कमिश्नर को इस प्रकरण को अपने स्तर से परीक्षण करने को कहा।

पार्षदों से ली जानकारी - निरीक्षण से पूर्व कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने आदमपुर जोनल कार्यालय पहुंचे और क्षेत्रीय लोगों के साथ ही इलाकाई पार्षद से क्षेत्र में पेयजलापूर्ति एवं सफाई व्यवस्था की जानकारी की। क्षेत्र में नगर निगम द्वारा कराया जा रहा सफाई व्यवस्था सन्तोषजनक नहीं होने तथा सफाईकर्मियों द्वारा सफाई कार्य स्वयं करने के बजाय दूसरों से कराए जाने की शिकायतों को गंभीरता से लिया और नगर आयुक्त को व्यवस्था में सुधार के निर्देश दिए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप