जौनपुर, जेएनएन। जिले के प्रथम नागरिक के रूप में प्रतिष्ठित जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव शनिवार को हो रहा है। इस दौरान सुबह 11 से तीन बजे तक मतदान के बाद मतों की गणना कर परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। इस अहम चुनाव को सकुशल संपन्न कराने के लिए शुक्रवार की देरशाम तक तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया। जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए सपा से निशी यादव, अपना दल-भाजपा गठबंधन से रीता पटेल, निर्दलीय श्रीकला व नीलम सिंह मैदान में हैं। इन दावेदारों के भाग्य का फैसला 83 जिला पंचायत सदस्य करेंगे। मतदान को लेकर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गई है।

निर्दल प्रत्याशी श्रीकला जिला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित : जौनपुर में जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए शनिवार को हुए चुनाव में 43 वोट पाकर पूर्व सांसद धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला विजयी घोषित की गईं। इस दौरान भाजपा गठबंधन अपना दल (एस) प्रत्याशी रीता पटेल को शून्य, सपा प्रत्याशी निशी यादव को 12 व निर्दल प्रत्याशी नीलम सिंह 28 मत मिले। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सुबह 11 बजे से शुरू मतदान 2 बजकर 10 मिनट तक चला। इस दौरान सभी 83 जिला पंचायत सदस्यों ने अपने मत का प्रयोग किया। मतदान का समय तीन बजे समाप्त होने के बाद मतों की गणना शुरू हुई और 3.15 बजे परिणाम की घोषणा की गई। जिला निर्वाचन अधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने श्रीकला सिंह को विजयी घोषित करते हुए जीत का प्रमाण पत्र सौंपा।

अपना दल (एस) ने किया निर्दल प्रत्याशी श्रीकला का समर्थन : जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में अपना दल (एस) ने बड़ा ऐलान करते हुए पूर्व सांसद धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला का समर्थन किया। शनिवार को दोपहर लगभग दो बजे पत्रकारों से बातचीत करते हुए अपना दल के मछलीशहर जिलाध्यक्ष लाल पटेल ने कहा कि सपा प्रत्याशी को हराने के लिए अपना दल (एस) के राष्ट्रीय नेतृत्व ने यह फैसला लिया है। भाजपा पर गठबंधन धर्म न निभाने का अब तक आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के लोगों ने अपना दल (एस) की प्रत्याशी को जिताने में समर्थन नहीं किया, बल्कि विरोध किया। इसे देखते हुए निर्दल प्रत्याशी को पार्टी के लोगों ने समर्थन देने का निर्णय लिया। इस प्रकार निर्दल प्रत्याशी पूर्व सांसद धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला विजयी घोषित की गईं।

सभी 83 जिला पंचायत सदस्यों ने डाला वोट : जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शनिवार को कलेक्ट्रेट स्थित डीएम कोर्ट में मतदान हुआ। सुबह 11 बजे से शुरू मतदान 2.10 बजे तक चला। इस दौरान सभी 83 जिला पंचायत सदस्यों ने बारी-बारी से अपने मतों का प्रयोग किया। मतों की गणना तीन बजे के बाद होगी। इसके बाद परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। चुनाव को लेकर कलेक्ट्रेट में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी है। सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में वोटर जिला पंचायत जिला पंचायत सदस्य मतदान कक्ष में प्रवेश किए। इसके साथ ही वीडियोग्राफी भी कराई गई। पहला वोट जिला पंचायत सदस्य डाक्टर अमर बहादुर सिंह डाला। चार महिला प्रत्याशी प्रथम नागरिक बनने के लिए अपना भाग्य आजमा रही हैं।

दो बजे तक 80 जिला पंचायत सदस्यों ने डाला वोट : जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को लेकर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कलेक्ट्रेट स्थित डीएम कोर्ट में मतदान हो रहा है। सुबह 11 बजे से शुरू मतदान दौरान 1.40 बजे तक 80 जिला पंचायत सदस्य अपने वोट का प्रयोग कर चुके हैं। अब शेष बचे तीन सदस्यों का इंतजार किया जा रहा है। मतदान की प्रक्रिया तीन बजे तक चलेगी। इसके बाद मतों की गणना कर परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। मतदान को लेकर कलेक्ट्रेट में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी है। सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में वोटर जिला पंचायत जिला पंचायत सदस्य मतदान कक्ष में प्रवेश कर रहे हैं। इसके साथ ही वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है। पहला वोट जिला पंचायत सदस्य डाक्टर अमर बहादुर सिंह डाला। चार महिला प्रत्याशी प्रथम नागरिक बनने के लिए अपना भाग्य आजमा रही हैं।

एक बजे तक पड़े 70 वोट : जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को लेकर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कलेक्ट्रेट स्थित डीएम कोर्ट में मतदान 11 बजे शुरू हो गया। इस दौरान 1.10 बजे तक 83 वोटरों में से 70 वोट पड़ चुके थे। मतदान को लेकर कलेक्ट्रेट में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है। सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में वोटर जिला पंचायत जिला पंचायत सदस्य मतदान कक्ष में प्रवेश कर रहे थे। इसके साथ ही वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है। सुरक्षा के मद्देनजर परिसर में भारी संख्या में फोर्स तैनात की गई है। पहला वोट जिला पंचायत सदस्य डाक्टर अमर बहादुर सिंह ने डाला।

कलेक्ट्रेट में फोर्स तैनात, आवागमन प्रतिबंधित : जिले के प्रथम नागरिक के रूप में प्रतिष्ठित जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को लेकर कलेक्ट्रेट में भारी संख्या में फोर्स की तैनाती कर दी गई है। इसके साथ ही कलेक्ट्रेट जाने वाले सभी मार्गों पर आवागमन प्रतिबंधित कर दिया गया। जगह-जगह बैरियर लगाकर वाहनों को रोका जा रहा है, सिर्फ कलेक्ट्रेट के कर्मचारी व मतदान से जुड़े कर्मचारी ही प्रवेश पा रहे हैं। मत सुबह 11 बजे से तीन बजे तक होगा। इसके बाद मतों की गणना करके परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए सपा से निशी यादव, अपनादल- भाजपा गठबंधन से रीता पटेल, निर्दलीय श्रीकला सिंह व नीलम सिंह मैदान में हैं। इस चुनाव में इन दावेदारों के भाग्य का फैसला नवनिर्वाचित 83 जिला पंचायत सदस्यों के हाथों में है।

जिला मजिस्ट्रेट न्यायालय में मतदान : कलेक्ट्रेट स्थित जिला मजिस्ट्रेट न्यायालय में मतदान की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। इस दौरान सुरक्षा व कोरोना संक्रमण को लेकर विशेष सतर्कता रहेगी। सिर्फ जिला पंचायत सदस्य ही मतदान कक्ष में प्रवेश कर सकेंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने कलेक्ट्रेट में अधिकारियों के साथ चुनाव की तैयारियों का जायजा लिया और और जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है, किसी भी प्रकार का जुलूस नहीं निकाला जाएगा।

सीसी टीवी कैमरे सक्रिय होने साथ ही वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। जिला मजिस्ट्रेट न्यायालय में होगा मतदानकलेक्ट्रेट स्थित जिला मजिस्ट्रेट न्यायालय में मतदान की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। इस दौरान सुरक्षा व कोरोना संक्रमण को लेकर विशेष सतर्कता रहेगी। सिर्फ जिला पंचायत सदस्य ही मतदान कक्ष में प्रवेश कर सकेंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने कलेक्ट्रेट में अधिकारियों के साथ चुनाव की तैयारियों का जायजा लिया और और जरूरी निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है, किसी भी प्रकार का जुलूस नहीं निकाला जाएगा। चुनाव के मद्देनजर बड़ी तादाद में फोर्स व मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है। मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। इसके लिए जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड हेल्प डेस्क बनाने के साथ ही एंबुलेंस की भी व्यवस्था की जाए। उन्होंने वोटिंग कंपार्टमेंट बनाने को कहा, ताकि किसी प्रकार की असुविधा न होने पाए। स

सदस्यों को निर्वाचित होने का मूल प्रमाण पत्र लाना अनिवार्य : अपर जिला मजिस्ट्रेट/सहायक निर्वाचन अधिकारी जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहा है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने मतदान के लिए मतदाताओं की पहचान के संबंध में विकल्प उपलब्ध कराया है। इसमें भारत निर्वाचन आयोग से मान्यता प्रदान किए गए पहचान पत्र तथा मतदाता पहचान पत्र (एपिक), आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, आयकर पहचान पत्र, पैन कार्ड, शस्त्र लाइसेंस इत्यादि हैं। इसके साथ ही सभी जिला पंचायत सदस्यों को मतदान के लिए अपने साथ जीत का मूल प्रमाण पत्र लाना अनिवार्य होगा। मतदान एवं मतगणना परिसर में मतदाता को मोबाइल फोन, कैमरा, पेन व अन्य इलेक्ट्रानिक डिवाइस आदि लेकर नहीं जा सकेगा। प्रत्येक सदस्य को उतने अधिमान प्राप्त होंगे, जितने उम्मीदवार हैं। मतदाता-मत को अधिमान/वरीयता के रूप में अंकित करेगा। निर्वाचन अनुपाती प्रतिनिधित्व प्रणाली के अनुसार एकल संक्रमणीय मत से होगा। इसके लिए मतदान केंद्र में ही पिन उपलब्ध रहेगा जो बैगनी रंग की स्याही के होंगे तथा उससे ही मतदान किया जाएगा। मतदान 1, 2, 3, 4 अंकों के रूप में अंकित किए जाएंगे।

चप्‍पे चप्‍पे पर पहरा : जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के लिए शनिवार को मतदान के दौरान कलेक्ट्रेट में चप्पे-चप्पे पर पुलिस व पीएसी के जवान तैनात रहे। कलेक्ट्रेट परिसर में जिला पंचायत सदस्यों व ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों व जवानों के अलावा अन्य किसी का प्रवेश वर्जित रहा। सीसीटीवी कैमरे व ड्रोन से बराबर निगरानी की जाएगी। इसके अलावा भीड़भाड़ रोकने को वाहनों का मार्ग परिवर्तित कर दिया गया है। एएसपी (सिटी) डाक्टर संजय कुमार ने बताया कि शेषपुर तिराहे से लेकर आंबेडकर तिराहा तक व लाइन बाजार चौराहा से लेकर कलेक्ट्रेट तिराहे तक का रास्ता बंद रहेगा। मताधिकार का प्रयोग करने के लिए आने वाले जिला पंचायत सदस्य आंबेडकर तिराहा व शेषपुर तिराहा से अपने वाहनों से कलेक्ट्रेट तिराहे तक आ सकेंगे। सभी बैरियर प्वाइंट पर सीओ तैनात रहेंगे।

Edited By: Abhishek Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट