बलिया, जेएनएन। नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने शनिवार को मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि अच्छे दिन के नाम पर यह महान देश अघोषित आपातकाल के जबड़े में फंस गया है। अपने पापों से डरी हुई मोदी और योगी सरकार अब मीडिया घरानों पर छापों के माध्यम से अपना अपना पाप छुपाने की कोशिश कर रही है। इससे डरने की जरूरत नहीं है। इससे टकराने की जरूरत है। इस दौरान उन्‍होंने केंद्र और राज्‍य सरकार पर खूब हमले करते हुए जनहित के मुद्दों पर समाजवादी पार्टी की प्रतिबद्धता दोहराई।  

उन्होंने कहा कि इसके पहले भी आपातकाल लगाकर देश की जनभावना को दबाने की विफल कोशिश हुई थी। इस बार अघोषित आपातकाल के माध्यम से यह कोशिश हो रही है। यह कोशिश भी सफल नहीं होगी। नेता प्रतिपक्ष उत्तर प्रदेश रामगोविंद चौधरी ने कहा कि कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी से तड़प तड़प कर मरने वालों की चीख सुनकर पूरा देश रो पड़ा था। नदियों के तट लाशों से पट गए थे। भारत सरकार ने इसे लेकर एक प्रश्न के जवाब में लोकसभा में कहा है कि ऑक्सीजन की कमीं से देश में कोई नहीं मरा है। उसका आधार उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भेजा गया झूठ है।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार और उत्तर प्रदेश की सरकार चाहती है कि मीडिया भी इस झूठ को ही जनता के बीच सच के रुप में परोसे। कहा कि महंगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और उत्पीड़न की वजह से भाजपा की सरकार लोगों का विश्वास पहले ही खो चुकी हैं। इधर वोट के लिए हुए सरेआम चीरहरण, राफेल में दलाली और फोन जासूसी प्रकरण के बाद लोग भाजपा सरकारों से जल्द जल्द मुक्ति चाह रहे हैं। इसका ज्ञान राफेल और वोट लूटने वालों को भी हो गया है। इसलिए इन सरकारों ने देश में अघोषित आपातकाल कायम कर रखा है। जिसे समाजवादी पार्टी कभी भी सहन नही करेंगी।

Edited By: Abhishek Sharma