मऊ, जेएनएन। माफिया विधायक मुख्तार अंसारी के गिरोह के विरुद्ध प्रशासन की कार्रवाई मऊ से लखनऊ तक जारी है। इसी क्रम में बुधवार को जिला प्रशासन ने अंसारी गिरोह आइएस-191 के अत्यंत नजदीकी पूर्व सभासद रजनीश सिंह की नगर से सटे परदहा स्थित 713 वर्ग मीटर भूखंड को जब्त कर लिया। क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में प्रभारी निरीक्षक थाना सरायलखंसी, कोतवाली व दक्षिणटोला ने अपने पूरे दल- बल के साथ यह कार्रवाई की।

रिजर्व पुलिस लाइन में आयोजित प्रेसवार्ता में पुलिस अधीक्षक सुशील घुले ने बताया कि रजनीश सिंह मन्ना सिंह हत्याकांड में मुख्तार अंसारी का सहयोगी रहा था। वह भी इसी मामले में नामजद अभियुक्त था। हिस्ट्रीशीटर रजनीश द्वारा अापराधिक कृत्यों के माध्यम से अवैध रूप से अर्जित धन से परदहा में भू-संपत्ति बनाई गई थी। 14(1) गैंगस्टर एक्ट के तहत जिला पुलिस द्वारा उसे जब्त कर लिया गया है। हिस्ट्रीशीटर (83 ए) रजनीश कुमार सिंह की जब्त की गई संपत्ति की कीमत 39 लाख 21 हजार 500 रुपये है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पिछले दो दशकों के दौरान रजनीश कुमार सिंह की मुख्तार अंसारी गिरोह के मुख्य शरणदाता व आर्थिक मददगार के रूप में अतिसक्रिय व अग्रणी भूमिका रही है। इसके द्वारा अपराधिक गतिविधियों में संलिप्त रहकर अवैध रूप से अर्जित धन से मुख्तार अंसारी गिरोह की फंडिंग लंबे समय से की जाने की भी बात प्रकाश में आई है। उन्होंने बताया कि इस तरह मुख्तार अंसारी गिरोह के माफियाओं व सहयोगियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान में विगत 93 दिनों में कुल 21 करोड़  04 लाख 41 हजार 500 रुपये की चल/अचल संपत्तियों को जब्त किया जा चुका है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस